Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

रेलवे न्यूज

रेलवे का राजस्व बढ़ाने के नाम पर टाटानगर में फुटपाथ को बना दिया टैक्सी स्टैंड

  • ठेकेदार सड़क पर खड़ा करा रहा वाहन, लग रहा जाम, दुर्घटना की बन रही आशंका 
  • फुटपाथ पर टैक्सी स्टैंड का टाटानगर रेलवे क्षेत्रीय प्रबंधक से कराया गया उदघाटन  

रेलवे में इनोवेटिव आइडिया को आगे कर ठेका पट्टा देने की परंपरा पुरानी है. मकसद यह कि आम नागरिकों या ठेकेदारों के भीतर अभिनव विचार को आगे बढ़ाने का रास्ता मिले, लेकिन टाटानगर में हो रहा ठीक इसका उल्टा. वहां स्टेशन आउटगेट के बाहर पास फुटपाथ को रेलवे अधिकारियों ने पक्का स्टैंड बनवा दिया है. यहीं नहीं फुटपाथ पर बने इस स्टैंड के पास ठेकेदार द्वारा सड़क पर भी वाहन खड़ा किया जा रहा है. सारी कवायद रेलवे का राजस्व बढ़ाने के नाम पर की गयी है जिसका खामियाजा उस सड़क से गुजरने वाले लोगों और स्टेशन से निकलकर वाहन पकड़ने वाले यात्रियों को उठाना पड़ रहा है. जो हर समय सड़क पर जाम लगने से होने वाली दुर्घटना से आशंकित रहते हैं.

अब जरा इस इनोवेटिव आइडिया के बारे में जान लिजिए. पता चला है कि रेलवे के वाणिज्य विभाग के अधिकारियों ने पहले तो यात्रियों को सुविधा देने के नाम पर ओला स्टैंड के लिए फुटपाथ पर स्थान बनाया. हालांकि तब यह स्थान अस्थायी प्रकृति का था. बाद में अपने चहेते लोगों से इनोवेटिव आइडिया के नाम पर प्रस्ताव लिया कि टाटानगर स्टेशन के निकास द्वार के पास यात्रियों को सुविधा देने के नाम पर फुटपाथ को स्थायी टैक्सी स्टैंड बना दिया जाये. आनन-फानन में प्रक्रिया पूरी करायी गयी.

फुटपाथ पर बनाये गये टैक्सी स्टैंड का उद्घाटन करते रेलवे क्षेत्रीय प्रबंधक विनोद कुमार

उच्चाधिकारियों को बताया गया कि टाटानगर में आये इस इनोवेटिव आइडिया से रेलवे को राजस्व मिलेगा और यात्रियों की सुविधा बढ़ेगी. ऊपर से सबके लिए हरा-हरा दिखने वाला यह इनावेटिव आइडिया किसी के लिए काली कमाई का जरिया माना जा रहा तो किसी के लिए सड़क हादसे के रूप में दिखने वाला काल. हालांकि स्थानीय अधिकारी इस स्थायी स्टैंड को लेकर फेंका-फेंकी कर रहे हैं. टाटानगर के जिम्मेदार अधिकारियों का कहना है कि योजना का प्रस्ताव पूर्व का है इसी तो अभी मात्र अम्मीजामा पहनाया गया है. हालांकि फुटपाथ पर स्थान आवंटन की प्रक्रिया को लेकर भी सवाल उठाये जा रहे.

अब जरा जमीनी स्थिति समझिये. हर सड़क के किनारे फुटपाथ होता है. स्टेशन के निकास गेट के सामने वाली सड़क के किनारे भी फुटपाथ है. यह बात अलग है कि अन्य फुटपाथ की तरह इस फुटपाथ पर भी अतिक्रमण था और छोटे-मोटे दुकानदार यहां अस्थायी दुकानें लगाकर अपना जीविकोपार्जन करते थे. लेकिन रेलवे को इस फुटपाथ पर इन दुकानदारों को उजाड़कर स्थायी पार्किंग स्टैंड बनाने का इनोवेटिव आइडिया भा गया और बुलेट ट्रेन की स्पीड की तरह सारी कवायद पूरी कर यहां स्थायी शेड का निर्माण करा दिया गया है.

सवाल यह उठ रहा है कि क्या रेलवे वाणिज्य विभाग के अधिकारियों को यह इल्म नहीं था कि सड़क के किनारे फुटपाथ होता है और यहां उसी फुटपाथ पर वे लोग ठेकेदार से स्थायी शेड बनवा रहे हैं. हर फुटपाथ को अतिक्रमणमुक्त कराने के लिए अक्सर अभियान चलते रहता है. रेलवे प्रशासन भी ऐसा करता है लेकिन टाटानगर में फुटपाथ को अस्थायी अतिक्रमण से मुक्त कराने की जगह स्थायी शेड ही बनवा दिया गया है.

लोग हैरत जता रहे है कि ठेकेदार द्वारा फुटपाथ पर कब्जा किये जाने की कवायद को हर कोई देख रहा. लेकिन जिला प्रशासन के स्तर से भी टोका-टोकी की जानकारी सामने नहीं आयी है. लोगों की नजर में यह सीधे-सीधे फुटपाथ का स्थायी अतिक्रमण है. ऐसे में संबंधित थाना की भी इस ओर नजर जानी चाहिए थी क्योंकि जमीन भले ही फुटपाथ क्यों न हो, अतिक्रमण होने पर जिम्मेदारी के दायरे में थाना की भी भूमिका निर्धारित है.

पूरे प्रकरण में सबसे आश्चर्यजनक बात यह कि इस मुख्य सड़क से रेलवे के उच्चाधिकारी भी गुजरते हैं, जिला प्रशासन के अधिकारियों का भी आना-जाना होता है, पुलिस की भी नजर पड़ती है लेकिन अब तक किसी भी स्तर पर इस अतिक्रमण का संज्ञान नहीं लिया गया है. आलम यह है कि टाटानगर में ट्रेनों के आने के बाद जब यात्रियों का रेला स्टेशन से बाहर निकलता है और इस अतिक्रमण की वजह से वहां वाहनों का जाम लग जाता है तो बुजुर्ग यात्रियों के ठेला-ठेली में गिरने की स्थिति बन जाती है.

यही कारण है कि जब से टाटानगर रेलवे क्षेत्रीय प्रबंधक द्वारा इस अतिक्रमण मार्ग का फुटपाथ पर स्थायी स्टैंड का उदघाटन किया गया है तब से आम यात्री खास कर बुजुर्ग यात्री यह कहते हुए मिलते है कि वह राजस्व किस काम का जो हम जैसे बुजुर्ग यात्रियों की जान की कीमत पर प्राप्त किया जा रहा और वह स्टैंड किस काम जो फुटपाथ का अस्तित्व समाप्त कर बनाया गया है.

आगे पढ़ें : चार साल पहले हवा का रुख देखा, अब बनवा दिया स्थायी स्टैंड, क्या रेलवे खत्म कर देगा फुटपाथ की परंपरा !!!  

# jamshedpur-general # news # state # Prepaid Taxi # Taxi At Tatanagar # Tata Nagar Railway Station # Railway Station # Indian Railway # Chakradhapur Rail Division # Cab At Railway Station # Jamshedpur Hindi News # Jamshedpur Top News # Jamshedpur Live News # Jamshedpur News Today # प्री-पेड टैक्सी सेवा # कैब सेवा # टाटानगर रेलवे स्टेशन # इंडियन रेलवे # जमशेदपुर हिंंदी न्यूज # जमशेदपुर की बड़ी खबर # जमशेदपुर लेटेस्ट न्यूज # News # National News # Jharkhand news

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

न्यूज हंट

राउरकेला से टाटा तक अवैध गतिविधियों पर सीआईबी इंस्पेक्टरों का मौन सिस्टम के लिए घातक   सब इंस्पेक्टर को एडहक इंस्पेक्टर बनाकर एक साल से...

रेलवे जोन / बोर्ड

ECR CFTM संजय कुमार की छह लाख रुपये घूस लेने के क्रम में हुई थी गिरफ्तारी जांच के क्रम में  SrDOM समस्तीपुर व सोनपुर को...