ताजा खबरें रेलवे यूनियन

रिस्क अलाउंस व नाइट फेलियर गैंग की स्थापना की लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंची

  • इंडियन रेलवे एस एडं टी मैंटेनरर्स यूनियन को मिलने लगा सांसद एवं मंत्रियों का समर्थन
  • यूनियन ने रेलमंत्री को पत्र लिखकर मांगों पर विचार करने का किया अनुरोध 

सांसद विद्युत वरण महतो से मिलने यूनियन नेता

नई दिल्ली. रेलवे में संकेत एवं दूरसंचार कर्मचारियों की परेशानी को दूर करने के प्रयास को लेकर संघर्ष कर रही इंडियन रेलवे एस एडं टी मैंटेनरर्स यूनियन को सांसदों तथा केन्द्रीय मंत्रियों का समर्थन मिलने लगा है. रिस्क अलाउंस व नाइट फेलियर गैंग की स्थापना पर अड़े यूनियन को पहली सफलता गुजरात खेड़ा जिले के सांसद एवं गुजरात के भाजपा के संयोजक देवू सिंह चौहान जी के समर्थन से मिली है. यूनियनर के राष्ट्रीय महासचिव आलोक चन्द्र प्रकाश जी ने उनके सामने कर्मचारियों की समस्याओं को बार-बार रखा. नडियाद में आयोजित राष्ट्रीय महासम्मेलन में सांसद ने सार्थक सहयोग का आश्वासन यूनियन को दिया. यूनियन ने इस मामले में रेलमंत्री पीयुष गोयल को पत्र लिखकर दोनों मांगों पर साकारात्मक तरीके से विचार करने का अनुरोध किया है.

पूर्व मंत्री को पत्र सौंपते यूनियन महासचिव

उधर, 22 दिसंबर को इंडियन रेलवे एस एडं टी मैंटेनरर्स यूनियन के महासचिव आलोक चन्द्र प्रकाश ने गुजरात के खेड़ा जिले से  कांग्रेस के पूर्व सांसद और पूर्ण कोयल व पेट्रोलियम मंत्री डी पटेल से मिलकर संकेत एवं दूरसंचार विभाग के कर्मचारियों की समस्याओं से अवगत कराया. पूर्व मंत्री जी ने रिस्क अलाउंस की मांग को जायज ठहराते हुए यूनियन को जरूरी सहयोग देने का आश्वासन दिया है. इससे पूर्व अपने अभियान में जुटे यूनियन के सहसचिव श्री रेवती रमण तथा दिल्ली मंडल के मंडल सचिव राघवेन्द्र कुमार जी ने समस्तीपुर के सांसद रामचन्द्र पासवान जी से मिलकर संकेत एवं दूरसंचार विभाग के कर्मचारियों की समस्याओं से रखा. यूनियन ने समस्तीपुर में संरक्षा सम्मेलन में लोजपा की महिला प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती नीलम सिन्हा से भी सहयोग का भरोसा लिया.

यूनियन को बड़ी सफलता तब मिली जब केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री तथा पाटलिपुत्रा के सांसद रामकृपाल यादव जी ने भी संकेत एवं दूरसंचार विभाग के कर्मचारियों को रिस्क अलाउंस दिये जाने का समर्थन कर रेल मंत्री पीयुष गोयल को पत्र लिखा. चक्रधरपुर मंडल में यूनियन के प्रयास के बाद जमशेदपुर के माननीय सांसद विद्युत वरण महतो ने भी इंडियन रेलवे एस एडं टी मैंटेनरर्स युनियन की मांगों का समर्थन करते हुए रिस्क अलाउंस के साथ-साथ सभी यूनिट में नाइट ड्यूटी फेलियर गैंग की स्थापना करने का अनुरोध रेल मंत्री पीयुष गोयल को पत्र लिखकर किया है. इस क्रम में यूनियन के सहसचिव रेवती रमण कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर 21.12.18 को नालंदा के सांसद कौशलेन्द्र कुमार से दिल्ली में उनके निवास पर मिले और विचार से बात की. इस तरह यूनियन का वहां भी समर्थन हासिल हो गया है.

दक्षिण में झंडे गाड़ने को तैयार एस एडं टी मैंटेनरर्स यूनियन

डीआरएम के समक्ष अपनी बात रखते यूनियन प्रतिनिधि

21.12.18 को सुलुरपेट्टा में रेलवे एस एडं टी मैंटेनरर्स युनियन का प्रतिनिधिमंडल गणेश जी के नेतृत्व में दक्षिण रेलवे के चेन्नई मंडल के मंडल रेल प्रबंधक से उनके निरीक्षण के दौरान मिला और कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया. इसे यूनियन के दक्षिण रेलवे में पकड़ मजबूत करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है. यूनियन महासचिव आलोक चन्द्र प्रकाश की पहल पर ही दक्षिण रेलवे के चेन्नई मंडल में जेई सिगनल तथा टेलीकाम की 20% एलडीसीई में हो रही गड़बड़ियों को दुरुस्त किया जा सका है.

जिस तरह से सांसदों ने संकेत एवं दूरसंचार विभाग के कर्मचारियों के लिए आगे आकर रिक्स एलाउंस एवं नाईट फेलियर गैंग की मांग रेल मंत्री पीयुष गोयल के रखने की पहल की है वह संकेत कर्मचारियों के लिए मील का पत्थर साबित हो सकता है.

नवीन कुमार, राष्ट्रीय अध्यक्ष

Spread the love

Related Posts