ताजा खबरें न्यूज हंट रेलवे जोन / बोर्ड रेलवे यूनियन

अंग्रेजों भारत छोड़ो की तर्ज पर 9 अगस्त को मनायेंगे “रेल बचाओ-देश बचाओ” आंदोलन

  • AIRF के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने सभी यूनियनों के साथ जनता से किया आह्वान 
  • रेलवे को निजीकरण से बचाने के लिए रेलकर्मी के साथ देश की जनता करे सहयोग

रेलहंट ब्यूरो, नई दिल्ली

रेलवे में ट्रेनों का संचालन निजी कंपनियों के देने के निर्णय का विरोध कर रही #AIRF ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन ने 9 अगस्त को रेल बचाओ-देश बचाओ आंदोलन के रूप में मनाने का नारा दिया है. फेडरेशन के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने 23 जुलाई को देश की विभिन्न यूनियनों के नाम जारी पत्र में उनसे इस आंदोलन में सहयोग करने का आह्वान किया है. अपने पत्र में शिव गोपाल मिश्रा ने कहा है कि मौजूदा सरकार पूरी तरह मजदूर विरोधी है. यह कभी कर्मचारियों की सुविधाओ में कटौती करती है तो कभी रेल में स्वीकृत पदों को खत्म करने का फरमान जारी कर देती है. अब तो सरकार ने ट्रेनों को ही बेचने का फैसला ले लिया है. सरकार खुलेआम ट्रेनों के लिए बोली लगा रही है.

कोई भी निजी कंपनी अथवा उद्योगपति ट्रेन का संचालन सेवा भाव के लिए नही करने वाला है. वह मुनाफ़ा कमाने के लिए आयेगा. ऐसे में निजी कंपनियों की ट्रेनों में किराया निर्धारण करने या मनमानी वसूली को नियंत्रित करने का कोई अधिकार सरकार के पास नहीं होगा. इससे रेलवे की जनकल्याण की मूल भावना की नष्ट हो जायेगी.

शिवगोपाल मिश्रा, महामंत्री, #AIRF

ऑल इंडिया रेलवे मेंन्स फेडरेशन के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने रेलवे के इस कदम पर आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा है कि AIRF का स्पष्ट मानना है कि कोई भी निजी कंपनी अथवा उद्योगपति ट्रेन का संचालन सेवा भाव के लिए नही करने वाला है. वह मुनाफ़ा कमाने के लिए आयेगा. ऐसे में निजी कंपनियों की ट्रेनों में किराया निर्धारण करने या मनमानी वसूली को नियंत्रित करने का कोई अधिकार सरकार के पास नहीं होगा. ये उद्योगपति मनमानी करेंगे और जनता को खुलेआत लूटेंगे. लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि सरकार यह सब जानते हुए भी कंपनियों के साथ सौदा करने पर उतारू है. इसके लिए 109 मार्गों पर 150 ट्रेनों को निजी हाथों में देने का प्रयास गंभीर संकेत है.

शिवगोपाल मिश्रा अपने संदेश में कहा है कि मौजूदा हालात में फेडरेशन चुप रहने वाला नही है, हम पहले भी जन जागरण अभियान चला चुके है, अब 9 अगस्त को देश भर में रेल बचाओ देश बचाओ आंदोलन किया जाएगा. यह वह एतिहासिक दिन है जब महात्मा गांधी ने अंग्रेजों भारत छोड़ाे का नारा बुलंद किया था. शिवगोपाल मिश्रा ने यूनियनों की इस लड़ाई में आम जनता से भी सहयोग करने की अपील की है ताकि रेलवे की सार्वजनिक कल्याण की मूल भावना को बचाया जा सके. महामंत्री ने सभी यूनियन, रेलकर्मियों के साथ देश की जनता से भी एक बार फिर से इस विरोध प्रदर्शन में शामिल होने की अपील की है.

Spread the love

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *