ताजा खबरें न्यूज हंट मीडिया रेलवे यूनियन

AIRF महामंत्री ने कहा, रेलकर्मियों के प्रति सरकार का रवैया दुर्भावनापूर्ण, 7 जून को ट्वीटर पर ‘महाअभियान’

लखनऊ . ऑल इंडिया रेलवे मेन्स फैडरेशन के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने सरकार पर दोहरे मापदंड का आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार का रवैया रेल कर्मचारियों के प्रति ठीक नही है , आज कोरोना महामारी में जब देश की सेवा करते हुए दो हजार से अधिक रेलकर्मी शहीद हो गए, फिर भी रेलकर्मियों को फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स घोषित नही किया गया , आज वैक्सीन तक के लिए रेलकर्मी को ठोकरे खानी पड़ रही है.

लखनऊ में ऑनलाइन मीडिया से बात करते हुए महामंत्री ने कहा कि इस महामारी के पहले चरण में जब सभी राज्य सरकारों ने प्रवासी मजदूरों को उनके घर छोड़ने के लिए हाथ खड़े कर दिए तो उस वक्त श्रमिक स्पेशल ट्रेन के जरिए रेलकर्मियों ने 2.06 करोड़ मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुचाया, इतना ही नही बड़ी संख्या में गुड्स ट्रेन का संचालन कर देश के किसी भी कोने में आवश्यक उपभोक्ता वस्तुओं की कमी भी नही होने दी. इसके अलावा रेल की आमदनी भी डेढ़ गुना ज्यादा हुई. इस दौरान हमारे 600 रेलकर्मियों की जान चली गई.

दूसरे चरण में पूरे देश मे आक्सीजन की कमी के चलते हाहाकार मच गया , एक जगह से दूसरी जगह आक्सीजन पहुँचाने में जब ज्यादातर सस्थाएं नाकाम रही तो एक बार फिर रेलकर्मियों ने ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिये देश के सभी इलाको में ऑक्सीजन की आपूर्ति बहाल की. खुद प्रधानमंत्री ने रेलकर्मियों के प्रयासों की सराहना की. हालांकि दूसरे चरण में काम करते हुए दो हजार से भी अधिक रेलकर्मियों की मौत हो गई.

इसपर AIRF ने आवाज बुलंद किया और कहाकि रेलकर्मियों को भी फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स माना जाए , ताकि उन्हें भी प्राथमिकता के आधार पर वैक्सीन का टीका लग सके , साथ ही जिन रेलकर्मियों की मृत्यू हुई है उनके परिवार वालो को 50 लाख एक्सग्रेसिया का भुगतान किया जा सके. लेकिन सरकार कर्मचारियों के बीच भेदभाव कर रही हसि और रेलकर्मियों को आज तक फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स नही घोषित किया गया.

इस मसले को AIRF ने गंभीरता से लिया है , हमारी स्टेडिंग कमेटी में तय हुआ है कि हमें इसके लिए आंदोलन करना ही होगा. फिलहाल 7 जून को सरकार का ध्यान आकृष्ट कराने के लिए सोशल मीडिया पर एक महाअभियान की शुरुआत देश भर में कई जा रही है , इसके बाद भी सरकार का रवैया नही बदला तो इस आंदोलन को और धार दिया जाएगा.

रेलकर्मियों से AIRF की अपील, अपने Tweet में हैशटैग
#TreatRailwayEmployeesFrontlineWorker का जरूर इस्तेमाल करें . इस Tweet को @PMOIndia , @RailMinIndia, @MoHFW_INDIA , @PiyushGoyal के साथ ही @ShivaGopalMish1 को टैग भी अवश्य करें.

दक्षिण पूर्व रेलवे मेंस यूनियन ने रेलकर्मियों से किया आह्वान

दक्षिण पूर्व रेलवे मेंस यूनियन ने जोन के चारों रेल मंडल चक्रधरपुर, आद्रा, रांची व खड़गपुर की शाखाओं में 7 जून 2021 को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्‌विटर पर आवाज बुलंद करने का अनुरोध किया है. सुबह 9 बजे से शाम 5 बज तक प्रधानमंत्री रेल मंत्री, वित्त मंत्री एवं रेल मंत्रालय के ट्वटर हैंडल में सामूहिक रुप से ट्वीट किया जायेगा. चक्रधरपुर रेल मंडल के आदित्यपुर मेंस यूनियन शाखा के कार्यकारी अध्यक्ष मुकेश सिंह व सचिव डी अरुण ने संयुक्त रूप से अपील की है कि रेलवे में पोस्ट सरेंडर, नई पेंशन नीति, डीए, रात्रीकालीन ड्यूटी भता भुगतान समेत 13 मांगों के समर्थन में ट्वीट अभियान में शामिल हो और #Treat railway Employee frontline worker an का जरूर इस्तेमाल करें. इसे @Amoincia, सामूहिक रूप से ट्वीट किया जा सकता है.

साभार : फेसबुक वॉल AIRF

#CLWRMU #ECoRSU #NRMU #NRMUYOUTH #NRMUWOMEN #AIRF #AIRFWOMEN #AIRFYOUTH #RCMU #NRMU #SRMU #ECRKU #NWREU #NRMUCR #SECRSU #SWRMU #WERU #SCRMU #MRMU #SERMU #WCREU #RCFMU #NFRMU #ICFLU #ERMU #DMWRMU #DLWMU #NCRMU #NERMU #RDSOKS #RWFMU

Spread the love

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *