ताजा खबरें न्यूज हंट मीडिया रेलवे यूनियन

SER : स्टेशन मास्टरों ने मांगा रात्रि भत्ता, एमएसीपी लागू करने की मांग पर धरना

  • आइसमां को मिला आश्वासन, कहा गया समस्याएं हैं तो समाधान भी होगा

तारकेश कुमार ओझा , खड़गपुर

रेल परिसेवा और परिचालन के क्षेत्र में स्टेशन मास्टरों की महत्वपूर्ण भूमिका है. उनकी छोटी -मोटी समस्याएं हो सकती है , जिनके निराकरण का यथोचित प्रयास किया जाएगा अपनी मांगों के समर्थन में ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन ने मंगलवार 26 अक्टूबर को दक्षिण पूर्व रेलवे के जोनल मुख्यालय पर धरना-प्रदर्शन कर आवाज बुलंद की.

आइसमां की केंद्रीय कार्यसमिति के आह्वान पर आयोजित धरना-प्रदर्शन कार्यक्रम के बाद जोनल टीम के पदाधिकारियों ने दक्षिण पूर्व रेलवे मुख्यालय , गार्डेनरीच में रेल महाप्रबंधक अर्चना जोशी तथा पीसीओएम प्रभाष दंशना और डीसीपीओ महुआ वर्मा से मिलकर अपनी मांगें रखी और उन्हें उससे संबंधित पत्र सौंपा.

इसमें एमएसीपी जल्द लागू करने, स्टेशन मास्टरों को रात्रि भत्ता शुरू करने, रिक्त पदों को यथाशीघ्र भरने, कोरोना काल में घटना दिये गये इम्प्रेस कैश को 50 फीसदी से बढ़कर 100 फीसदी करने, छोटे व बड़े स्टेशनों पर फर्नीचर बदलने, महिला स्टेशन मास्टरों के लिए चेंजिंग रूम आदि की मांग शामिल है. आइसमां की मांगों पर अधिकारियों ने सकारात्मक रूख अपनाते हुए कहा कि समस्या है तो समाधान भी होगा.

कोलकाता मुख्यालय पर जीएम से मिलने वालों में जोनल महासचिव दिलीप कुमार , जोनल अध्यक्ष अरविंद कुजूर , वित्त सचिव संजय कुमार , मंडल सचिव चक्रधरपुर अविनाश कुमार, मंडल सचिव खड़गपुर सरोज कुमार, सतीश कुमार मंडल वित्त सचिव, खड़गपुर, सुजीत दास, डिवीजन सचिव अरुण कुमार के अलावा स्टेशन मास्टर, टिकियापाड़ा, रूपेश कुमार, स्टेशन मास्टर , आंदुल तथा संगठन की केंद्रीय कार्यसमिति के सहायक सचिव एके सिंह आदि शामिल थे.

Spread the love

Related Posts