ताजा खबरें न्यूज हंट रेलवे जोन / बोर्ड

रेलटेल और आरवीएनएल की हिस्सेदारी बेचेगी सरकार, 1280 करोड़ जुटाने की तैयारी

रेलवे आईआरसीटीसी के बाद अब दो अन्य कंपनियों की हिस्सेदारी बेचने की तैयारी में है. इनमें रेलटेल ओर रेल विकास निगम लिमिटेड शामिल है. इससे पहले IRCTC का आईपीओ जारी किया जा चुका है. इस तरह आईआरसीटीसी से कमाई करने से चूके लोगों के पास एक और मौका होगा. क्योंकि आईआरसीटीसी के बाद रेलवे की दो और कंपनियां बाजार में विनिवेश का प्लान बना रही है. इनका आईपीओ जल्द आ रहा है.

इनमें पहली कंपनी है रेल विकास निगम लिमिटेड (RVNL) जिसकी 15 फीसदी हिस्सेदारी बेचने का प्लान सरकार बना रही है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस बिक्री के लिए सरकार ने बैंकरों से आवेदन मांगा है. निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग की ओर से जो जानकारी सामने आयी है उसके अनुसार सरकार आरवीएनएन की 87.84 फीसदी हिस्से में 15 फीसदी विनिवेश का प्लान बना रही है. इसका आईपीओ शेयर बाजार में आयेगा और लोग इससे कमाई कर सकेंगे.

शुक्रवार को आरवीएनएल के शेयर करीब 0.53 प्रतिशत की बढ़त के साथ 18.80 रुपये पर बंद हुए थे. ऐसा अनुमान है कि मौजूदा दर पर 15 प्रतिशत हिस्सेदारी बिक्री करने से सरकार को 580 करोड़ रुपये मिलेंगे.

वहीं दूसरी ओर बता दें रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने भी आईपीओ के लिए सेबी को अप्लाई किया है. सेबी की तरफ मंजूरी मिलने के बाद इस आईपीओ को खोला जाएगा. कंपनी की योजना इस ऑफर से 700 करोड़ रुपये जुटाने की है. सेबी को दिये गये दस्तावेज व मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आईपीओ से सरकार कंपनी में अपने 8.66 करोड़ शेयरों की बिक्री की पेशकश करेगी.

इससे पहले इंडियन रेलवे कैटरिंग ऐंड टूरिज्म कॉरपोरेशन आईआरसीटीसी के 320 रुपये में जारी शेयर एक महीने में ही तीन गुना से अधिक पर पहुंच गये थे. यहां यह बताना जरूरी होगा कि रेलटेल रेलवे की कैटेगरी वन की कंपनी है. यह कंपनी टेलीकॉम नेटवर्क और इंफ्रा सर्विस की सुविधा देती है. इसके अलावा कंपनी की सिस्‍टम इंटिग्रेटेड सर्विसेज हैं.

Spread the love

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *