Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

न्यूज हंट

ROURKELA : आरपीएफ आईजी के आदेश को चुनौती दे रहे ‘गांधी’! अवैध वैंडरों की खड़ी कर दी ‘फौज’

ROURKELA : आरपीएफ आईजी के आदेश को चुनौती दे रहे 'गांधी'! अवैध वैंडरों की खड़ी कर दी 'फौज'
  • आईजी संजय कुमार मिश्रा की कार्रवाई के बाद बंद अवैध धंधों को फिर से करा दिया चालू

ROURKELA. राउरकेला स्टेशन पर इन दिनों आरपीएफ आईजी के आदेश को सीधी चुनौती मिल रही है. आईजी की सीधी कार्रवाई के बाद अक्टूबर 2023 से स्टेशन से बाहर निकाल दिये गये अवैध वेंडरों की पहुंच एक बार फिर से स्टेशन से लेकर ट्रेनों तक हो चुकी है. रात की कौन पूछे दिन के उजाले में भी खुलेआम सड़ी-गली खाने-पीने की चीजें ऊंची कीमत पर बेचकर यात्रियों को शिकार बनाने का काम शुरू हो गया है. सवाल यह उठाया जा रहा कि क्या आरपीएफ प्रभारी गौतम कुमार गांधी की सहमति के बिना यह सब हो रहा ? अगर ऐसा तो क्या राउरकेला आरपीएफ पोस्ट का लुकआफ्टर प्रभार देख रहे गौतम कुमार गांधी आईजी के आदेश को सीधी चुनौती तो नहीं दे रहे ? इस बात की चर्चा डिवीजन से लेकर जोन तक हो रही है.

ROURKELA : आरपीएफ आईजी के आदेश को चुनौती दे रहे 'गांधी'! अवैध वैंडरों की खड़ी कर दी 'फौज'

संजय कुमार मिश्रा, पीसीएससी, एसईआर

कारण व परिणाम के बीच सोचने वाली बात यह है कि यह सब उस राउरकेला स्टेशन पर हो रहा है जहां छह माह पूर्व ही आईजी संजय कुमार मिश्रा ने मिल रही सूचनाओं के बाद खुद औचक निरीक्षण कर आरपीएफ प्रभारी शिव लहरी मीना पर सीधी कार्रवाई की थी. उन्हें न सिर्फ सस्पेंड किया गया बल्कि उन्हें डिग्रेड कर सब इंस्पेक्टर बना दिया गया था. इसके बाद कुछ दिनों तक सब कुछ शांत रहा फिर धीरे-धीरे यहां अवैध गतिविधियां परवान चढ़ने लगी है. यह सब उस राउरकेला में हो रहा जहां दर्जनों सीसीटीवी कैमरे लगे है जिनकी मॉनिटिरंग स्टेशन से लेकर डिवीजन और जोनल मुख्यालय तक से संभव है. पूरे मामले में कमर्शियल की भूमिका भी संदिग्ध बन गयी है.

यह भी पढ़ें : आरपीएफ आईजी व कमांडेंट तो बदले पर नहीं बदला सिस्टम, सफेद हाथी बनकर रह गये IVG-CIB-SIB इंस्पेक्टर

स्टेशन से ट्रेनों में धमाचौकड़ी मचा रहे अवैध वेंडर, टकराव की बढ़ी आशंका 

हकीकत है कि राउरकेला स्टेशन पर अवैध हॉकरों की बढ़ती संख्या फिर से चिंता बढ़ाने लगी है. अवैध वेंडिंग कराने वाले लोगों में इस बात को लेकर टकराव शुरू हो गया है कि किसके कितने लोग वेंडिंग करेंगे. बताया जा है कि स्टेशन पर फेरी करने के लिए वेंडरों की संख्या बढ़ाने की अनुमति सीधे तौर पर आरपीएफ प्रभारी गौतम कुमार गांधी से ही लेनी होती है. बीते एक माह में स्टेशन पर अवैध वेंडरों की संख्या दो दर्जन से अधिक बढ़ जाने की बात कही जा रही है. ये लोग कमाई के लिए एक-दूसरे से भिड़ने को तैयार हैं. यह टकराव का कारण बन सकता है. ये बातें अब मीडिया में भी आने लगीं हैं. अवैध वेंडरों के यहां तीन बड़े ऑपरेटर है. इनमें एक होटल संचालक, दूसरा महिला रेलकर्मी का पति तो तीसरा एक अधिकारी का संबंधी शामिल है.

ROURKELA : आरपीएफ आईजी के आदेश को चुनौती दे रहे 'गांधी'! अवैध वैंडरों की खड़ी कर दी 'फौज'

गौतम कुमार गांधी, आरपीएफ प्रभारी, राउरकेला

दिलचस्प है कि राउरकेला स्टेशन और ट्रेनों में अवैध वेंडरों से जुड़े समाचार मीडिया में प्रकाशित होने पर आरपीएफ प्रभारी गौतम कुमार गांधी चिंतित नहीं हैं. वह बल के लोगों के सामने बेखौफ टिप्पणी कर रहे कि जिसे जो लिखना है लिखे, अधिक से अधिक उनका तबादला ही तो होगा ? वह तो वैसे भी लुक आफ्टर में है. आरपीएफ आईजी संजय कुमार मिश्रा के शांत स्वभाव से वाफिक हर इंस्पेक्टर यह बात समझता है कि उनके खिलाफ जांच व कार्रवाई इतनी आसान नहीं है. इसमें लंबा समय लगेगा, तब तक तो वह समेट कर चलते बनेंगे.

यह भी पढ़ें : आईजी ने राउरकेला में बोला धावा, अवैध धंधों की खुली पोल, आरपीएफ प्रभारी एसएल मीना सस्पेंड

राउरकेला पोस्ट को मिले तीन लुक आफ्टर प्रभारी, आईजी क्यों हैं मौन

राउरकेला में शिवलहरी मीना को सस्पेंड किये जाने के बाद से तीन-तीन इंस्पेक्टरों को लुक ऑफटर दिये जाने की कहानी भी दिलचस्प है. पहले यहां का चार्ज बंडामुंडा के ओसी अरुण टोकस को दिया गया. कुछ दिनों बाद ही इसका प्रभार झारसुगुड़ा ओसी राकेश मोहन को सौंप दिया गया. इसके बाद कंट्रोल से गौतम कुमार गांधी यहां भेजे गये जो अब तक यहां अस्थायी प्रभार में हैं. अब विचारने वाली बात है कि एक बड़े पोस्ट का छह माह में तीन-तीन प्रभारियों को लुक ऑफ्टर देने के पीछे चक्रधरपुर कमांडेंट की क्या मंशा हो सकती है ?

वेंडरों की तलााश करने वाले एएससी भी अब मौन !

ROURKELA : आरपीएफ आईजी के आदेश को चुनौती दे रहे 'गांधी'! अवैध वैंडरों की खड़ी कर दी 'फौज'

एके सिंह, सहायक सुरक्षा आयुक्त, राउरकेला

राउरकेला स्टेशन पर अवैध वेंडरों की बढ़ती संख्या पर आरपीएफ के सहायक सुरक्षा आयुक्त एके सिंह ने भी कुछ दिनों पहले चिंता जतायी थी. वह स्वयं स्टेशन आकर इसकी जांच तक करने लगे और अपने लोगों को यहां तक ताकीद कर रखा था कि अगर कोई अवैध वेंडर दिखा तो उनकी खैर नहीं. हालांकि इसके बावजूद अवैध वेंडिंग जारी रही. इसके पीछे उनके ही विभाग के लोगों का सूचना तंत्र काम कर रहा था तो हर पल की सूचना वेंडरों तक उनके पहुंचाने से पहले पहुंचा देता था. इनमें अग्रणी नाम बंटी सिंह का है जो कभी शिवलहरी मीना का स्पेशल हुआ करता था. वह लगातार संदिग्ध भूमिका के बावजूद अब भी स्टेशन पर पदस्थापित है.

टाटानगर स्टेशन को बना दिया बाजार, जानेंगे क्या है यहां का हाल … क्रमश : 

रेलहंट का प्रयास सच को सामने लाना मात्र हैं. सभी प्रतिक्रियाओं का स्वागत करते हैं ताकि हर पक्ष की बात सामने आ सके और हमारे सजग पाठक हर पक्ष की स्थिति से वाकिफ हो सके. अपना पक्ष या अपनी प्रतिक्रिया इस मेल आईडी – railnewshunt@gmail.com अथवा वाट्सएप नंबर +91 9905460502 पर भेजें.

Spread the love
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest

You May Also Like

मीडिया

Dead body of a girl found in a train. युवती की हत्या कर उसका शव दो हिस्सों में बांटकर अलग-अलग ट्रेन की बोगी में...

रेलवे यूनियन

PRAYAGRAJ. उत्तर मध्य रेलवे कर्मचारी संघ (UMRKS) ने आगामी बजट के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री को कई बिंदुओं पर सुझाव दिया है. भारतीय मजदूर संघ...

न्यूज हंट

GUNTAKAL. रेलवे में भ्रष्टाचार से जुड़े एक मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए सीबीआई ने दक्षिण मध्य रेलवे के गुंतकल मंडल के डीआरएम, सीनियर डीएफएम,...

न्यूज हंट

राहुल गांधी ने क्रू लॉबी के रनिंग रूम में बाहर से आये लोको पायलटों समेत सभी से की बात  : AILRSA गांधी के जाने...