Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

रेलवे यूनियन

एसएंडटी कर्मी नौ को मनायेंगे काला दिवस, ड्यूटी में हुई मौतों को लेकर बढ़ी नाराजगी

S&T कर्मियों के लिए भारी रहे 24 घंटे, तीन तकनीशियनों की रनओवर से मौत
  • रिस्क व हार्डशिप अलाउंस के साथ नाइट ड्यूटी फेलियर गैंग की मांग को लेकर रेलमंत्री को भेजा पत्र

नई दिल्ली. रेलवे को रफ्तार देने वाले एसएंडटी कर्मियों की ड्यूटी पर होने वाली मौतों को हमेशा से नजरअंदाज किया जाता रहा है. इसे लेकर कर्मचारियों में नाराजगी बढ़ती जा रही है. रेलवे सिग्नल एंड कम्युनिकेशन मेंटेनर्स ने यूनियन रिस्क एंड हार्डशीप अलाउंस के मामले में बार-बार मिल रहे आश्वासन पर नाराजगी जताते हुए नौ फरवरी 2022 को काला दिवस मनाने की घोषणा की है. इस दिन एसएंडटी के कर्मचारी अपने उन दिवंगत साथियों को याद करेंगे जो रेलवे की सेवा में आनड्यूटी रनओवर हो गये.

यूनियन ने पांच जनवरी को रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव को भेजे गये पत्र में अपनी पीड़ा का इजहार करते हुए बताया है कि किस तरह 9 फरवरी 2019 को पश्चिम मध्य रेलवे के भोपाल मंडल में कुरवई कैधोरा के ईएसएम संजय शर्मा की मौत ड्यूटी पर हो गयी और उनके मृत शरीर के ऊपर से होकर 19 ट्रेनें गुजर गयी. ऐसी ही घटना 22 नवंबर 2021 को उत्तर मध्य रेलवे के झांसी मंडल में हुई जब बीसीएम मशीन पर काम कर रहे जेई हेमंत कुमार की मौत ड्यूटी में हो गयी और उनके शव को नहीं उठाया गया.

एसएंडटी कर्मी नौ को मनायेंगे काला दिवस, ड्यूटी में हुई मौतों को लेकर बढ़ी नाराजगीइन घटनाओं का उदाहरण देकर रेलवे सिग्नल एंड कम्युनिकेशन मेंटेनर्स ने यूनियन ने रिस्क एंड हार्डशीप अलाउंस के साथ नाइट ड्यूटी फेलियर गैंग की मांग की ओर रेलमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया है. यूनियन की ओर से महामंत्री आलोक चन्द्र प्रकाश ने रेलमंत्री को पत्र भेजकर अपनी मांगों के समर्थन में काला दिवस मनाने की सूचना दी है. यह वह दिन है जब तीन साल पहले ईएसएम संजय शर्मा की मौत रनओवर होने से हो गयी थी. इस मौके पर देश भर में संगठन से जुड़े सिग्नल एंड कम्युनिकेशन विभाग के कर्मचारी काला बिल्ला लगाकर काम करेंगे और अपने दिवंगत साथियों को श्रद्धांजलि देंगे.

इससे पहले रेलवे सिग्नल एंड कम्युनिकेशन मेंटेनर्स ने रिस्क तथा हार्डशिप अलाउंस के लिए पूर्व रेल मंत्री पीयूष गोयल, पूर्व रेलवे बोर्ड अध्यक्ष आश्वनी लोहानी, विनोद कुमार समेत तमाम अधिकारियों से मिलकर अनुरोध कर चुका हैु. यूनियन ने संसदों से भी मिलकर अपनी बात रखी लेकिन अब तक उनकी मांगों की गयी पहल मुकाम पर नहीं पहुंच सकी है. यूनियन की पीड़ा रही है कि उन्हें नियम के विपरीत काम पर बुलाया जाता है ओर मान्य सुविधाएं भी नहीं मिल रही है.

यह भी पढ़ें : एसएंडटी मेंटेनर्स यूनियन ने रिस्क तथा हार्डशिप अलाउंस के लिए आमरण अनशन पर जाने का दिया अल्टीमेटम

इससे पहले यूनियन की पहल पर 28.06.2018 को पूरे भारतीय रेलवे के एसएडंटी विभाग के कर्मचारियों ने राष्ट्रीय आक्रोश रैली की. रेलवे बोर्ड ने भी 11.06.2019 को जारी एक पत्र में माना कि 01.04.2015 से लेकर 11.06.2019 तक 64 एसएंडटी कर्मचारियों की मौत हुई है. संजय शर्मा की मौत के बाद दिनांक 09.02.2019 को देश व्यापी उपवास रखकर काला दिवस के रूप में उस दिन को मनाया गया था. तब से एसएंडटी कर्मी इस दिन को काला दिवस के रूप मनाते आ रहे हैं. यूनियन के अध्यक्ष नवीन कुमार ने बताया कि उनका यह कार्यक्रम शांतिपूर्ण और कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए आयोजित किया जायेगा.

 

Spread the love

ताजा खबरें

You May Also Like

रेलवे यूनियन

PRAYAGRAJ. उत्तर मध्य रेलवे कर्मचारी संघ (UMRKS) ने आगामी बजट के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री को कई बिंदुओं पर सुझाव दिया है. भारतीय मजदूर संघ...

मीडिया

Dead body of a girl found in a train. युवती की हत्या कर उसका शव दो हिस्सों में बांटकर अलग-अलग ट्रेन की बोगी में...

न्यूज हंट

GUNTAKAL. रेलवे में भ्रष्टाचार से जुड़े एक मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए सीबीआई ने दक्षिण मध्य रेलवे के गुंतकल मंडल के डीआरएम, सीनियर डीएफएम,...

न्यूज हंट

राहुल गांधी ने क्रू लॉबी के रनिंग रूम में बाहर से आये लोको पायलटों समेत सभी से की बात  : AILRSA गांधी के जाने...