ताजा खबरें महिला संगठन रेलवे जोन / बोर्ड

नौकरी कर सामाजिक एवं आर्थिक रूप से मजबूत हो महिलाएं : सीपीओ

  • पूर्वोत्तर रेलवे कल्याण निधि द्वारा ‘महिला सशक्तिकरण’ पर संगोष्ठी का आयोजन

गोरखपुर. पूर्वोत्तर रेलवे केंद्रीय कल्याण निधि के तत्वाधान में ‘महिला सशक्तिकरण’ विषय पर एक संगोष्ठी का आयोजन बुधवार, 14 मार्च को रेलवे अधिकारी क्लब, गोरखपुर में किया गया. संगोष्ठी के मुख्य अतिथि पूर्वोत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी एल. बी. राय एवं विशिष्ट अतिथि गोरखपुर विश्वविद्यालय के राजनीति विभाग की प्रोफेसर श्रीमती विनीता पाठक थीं. इस अवसर पर प्रमुख मुख्य सुरक्षा आयुक्त, रेलवे सुरक्षा बल राजाराम, उप मुख्य कार्मिक अधिकारी/अराज., उप मुख्य कार्मिक अधिकारी/राज. ए. के. सिंह एवं सी. पी. दुबे सहित अन्य वरिष्ठ रेल अधिकारी तथा मुख्यालय में कार्यरत महिला रेल कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित थीं.

संगोष्ठी को संबोधित करते हुए प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी एल. बी. राय ने कहा कि आज के परिवेष में महिलाएं समाज के सभी क्षेत्रों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही हैं. भारत में सामाजिक परिवर्तन का ही परिणाम है कि महिलाएं, पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर समाज एवं देश के विकास में अपना सहयोग दे रही हैं. उन्होंने कहा कि वर्तमान में नौकरी करना महिलाओं के लिए सामाजिक एवं आर्थिक रूप से मजबूत होने हेतु जरूरी है, जिससे वे स्वालंबन की स्थिति में होकर अपने परिवार एवं समाज को सशक्त बनाती हैं. श्री राय ने उपस्थित महिलाओं का आह्वान किया कि वे सभी अपनी बेटियों को अच्छी शिक्षा दें, ताकि आने वाली महिला पीढ़ी देश के अछूते क्षेत्रों में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा सके. प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी ने महिला रेलकर्मियों को आश्वस्त किया कि कार्यालयों में कार्यरत महिलाओं की सुविधा हेतु सभी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे.

संगोष्ठी की विशिष्ट वक्ता गोरखपुर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर श्रीमती विनीता पाठक ने कहा कि महिला सशक्तिकरण को सरल भाषा में हम इस प्रकार रेखांकित करें कि महिलाएं देश और समाज के हर मंच पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं. उन्होंने कहा कि महिलाओं को अपने परिवार एवं समाज में नीति निर्धारक का रुख अपनाना पड़ेगा, तभी आप सभी आत्म-निर्भरता के शिखर पर पहुंच सकेंगी. श्रीमती पाठक ने बेटियों के पालन-पोषण एवं उनकी शिक्षा में समानता लाने हेतु अनेक सुझाव दिए, जिससे आगे चलकर समाज में व्याप्त दहेज रूपी दानव को खत्म किया जा सके. उन्होंने कहा कि आप सभी महिलाओं को स्त्रियोचित गुण यथा ममता, शील एवं लज्जा को आभूषण समझना चाहिए, जिससे आपकी समाज में एक अलग पहचान बनती है. उन्होंने उपस्थित महिलाओं को आत्म विश्वास लाने हेतु अनेक सुझाव दिए.
संगोष्ठी को ललित नारायण मिश्र रेलवे चिकित्सालय, गोरखपुर की वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. तनु वर्मा, श्रीमती रीता मिश्र सहित अनेक महिलाओं ने भी संबोधित करते हुए महिला सशक्तिकरण के विभिन्न उपायों पर चर्चा की. संगोष्ठी का संचालन श्रीमती रचना श्रीवास्तव, कार्यालय अधीक्षक/भंडार ने किया.

सभार रेलवे समाचार

Spread the love

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *