Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

सिग्नल दुरुस्त करते दो एसएंडटी कर्मी राजधानी की चपेट में आये, देशव्यापी शोक, दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली. पुराने यमुना पुल से कोठापार्चा की ओर 200 मीटर दूर पर 3 फरवरी बुधवार की सुबह 03:45 सिग्नल में आयी तकनीकी खामी की मरम्मत करने के दौरान दो कर्मचारी ईएसएम-1 शैलेंद्र कुमार और सिग्नल असिस्टेंट लालमन राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आ गये. दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी. रनओवर की इस दर्दनाक घटना ने रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम विभाग के कर्मचारी सकते में हैं. दुर्घटना के बाद इंडियन रेलवे एस एडं टी मैन्टेनर्स यूनियन के आह्वान पर विभाग के कर्मचारियों ने देश भर में 04 फरवरी को शोक मनाया और दिवंगत सहकर्मियों को श्रध्दांजलि दी. रेल प्रशासन ने दुर्घटना की जांच के आदेश दिए हैं.

जंक्शन पर सिग्नल विभाग में कर्मचारी SIM-1 शैलेंद्र कुमार और सिग्नल असिस्टेंट लालमन की बुधवार को रात्रि शिफ्ट (10-6) ड्यूटी थी. इसी दौरान रात सवा दो बजे मैसेज आया कि गऊघाट के पास सिग्नल नंबर 202 में खराबी आयी है. लालमन और शैलेंद्र वहां तुरंत पहुंचे और सिग्नल केबिन को चेक किया. वहां सब कुछ ठीक था. इसके बाद वे 200 मीटर दूर कोठापार्चा की ओर सिग्नल खंभे के पास पहुंचे. वहां से उन्होंने कंट्रोल रूम से बात की. तब तक सब ठीक था. इस दौरान तेज रफ्तार राजधानी उधर से गुजरी और दोनों उसकी चपेट में आ गए. इसका पता किसी को नहीं चल सका.

उधर, कंट्रोल रूम से बार-बार उनसे संपर्क की कोशिश की गई, लेकिन रिस्पांस न मिलने पर जेई श्याम बिहारी मौके पर पहुंचे. तब पता चला कि दोनों की मौत हो चुकी है. उनकी सूचना पर आरपीएफ और मुट्ठीगंज पुलिस मौके पर पहुंची.  कुछ देर में रेलवे के तमाम अधिकारी भी पहुंच गए. दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए दोपहर में भेजा गया. इंडियन रेलवे S&T मेंटेनर्स यूनियन ने तुरंत PCSTE/ प्रयाग राज से संपर्क कर कर्मचारियों के परिवार के लिए सहायता का अनुरोध किया. PCSTE के स्तर पर दोनों परिवारों को तत्काल 35-35 हजार रुपये दाह संस्कार के लिए दिये गये.

इस घटना के बाद रेलवे संकेत एवं दूरसंचार कर्मचारियों में गहरा रोष है और गुरुवार को समस्त भारत में संकेत एवं दूरसंचार कर्मचारियों ने सहयोगियों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान सभी स्टेशनों एवं डिपो में दो नट का मौन रखकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गयी. इंडियन रेलवे एस एडं टी मैन्टेनर्स यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन कुमार ने सिग्नल एवं दूरसंचार कर्मचारियों को जल्द से जल्द रिस्क एंड हार्डशिप अलाउंस दिये जाने और उनकी सेफ्टी के आइटम सभी डिवीजनों में जल्द से जल्द मुहैया कराने की मांग दोहरायी है.

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

न्यूज हंट

राउरकेला से टाटा तक अवैध गतिविधियों पर सीआईबी इंस्पेक्टरों का मौन सिस्टम के लिए घातक   सब इंस्पेक्टर को एडहक इंस्पेक्टर बनाकर एक साल से...

रेलवे जोन / बोर्ड

ECR CFTM संजय कुमार की छह लाख रुपये घूस लेने के क्रम में हुई थी गिरफ्तारी जांच के क्रम में  SrDOM समस्तीपुर व सोनपुर को...