Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

रेलवे की कार्यशैली को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना होगा : चेयरमैन 

अफसरशाही को कर्मचारियों के प्रति संवेदनशील होने की आवश्यकता है – लोहानी 
लोको निरीक्षकों की व्यवहारिक कठिनाईयों को शीघ्र दूर करने की आवश्यकता है-शिवगोपाल मिश्रा
एआईआरएफ द्वारा ‘ऑल इंडिया लोको इंस्पेक्टर्स सेफ्टी सेमिनार’ का आयोजन

नई दिल्ली. ऑल इंडिया रेलवेमेंस फेडरेशन (एआईआरएफ) के तत्वाधान में रविवार, 10 जून को नार्दर्न रेलवे मेंस यूनियन (एनआरएमयू), दिल्ली मंडल द्वारा डीआरएम कार्यालय के पास एस्टेट एंट्री रोड स्थित रेलवे ऑफिसर्स क्लब, नई दिल्ली में ‘ऑल इंडिया लोको इंस्पेक्टर्स सेफ्टी सेमिनार’ का आयोजन किया गया. सेमिनार का उद्घाटन एआईआरएफ के महामंत्री कॉम. शिव गोपाल मिश्रा ने किया. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि चेयरमैन, रेलवे बोर्ड अश्वनी लोहानी थे. कार्यक्रम की अध्यक्षता एनआरएमयू के केंद्रीय अध्यक्ष एस. के. त्यागी ने की.
इस अवसर पर सेमिनार को संबोधित करते हुए एआईआरएफ के महामंत्री कॉम. शिव गोपाल मिश्रा ने कहा कि सरंक्षा के महत्व को सर्वोपरि रखकर सुचारू रूप से रेल संचालन में लोको निरीक्षकों की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है, इससे इंकार नहीं किया जा सकता. उन्होंने लोको निरीक्षकों के दिन-प्रतिदिन के कार्यों में आने वाली व्यवहारिक कठिनाईयों पर व्यापक चर्चा करते हुए कहा कि इन कठिनाईयों को शीघ्र दूर करने की आवश्यकता है. सरंक्षा सेमिनार में महामंत्री कॉम. शिव गोपाल मिश्रा ने लोको निरीक्षकों की वेतन विसंगतियों, मुख्य रूप से स्टैपिंग-अप तथा प्रोन्नति में आने वाली कठिनाईयों पर चर्चा करते हुए सेमिनार में उपस्थित सभी जोनल रेलों से आए मुख्य लोको निरीक्षकों को उनकी समस्याओं का शीघ्र निराकरण कराने का आश्वासन भी दिया.

इस अखिल भारतीय लोको इंस्पेक्टर्स सरंक्षा सेमिनार को संबोधित करते हुए रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने कहा कि कर्मचारियों के प्रति संवेदनशील होने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि हम अफसरशाही को संवेदनशील बनाने का प्रयास कर रहे हैं. उनका कहना था कि 13 लाख रेल कर्मचारी खुश रहेंगे, तो रेलवे की और बेहतरी होगी. श्री लोहानी ने कहा कि कथनी और करनी मे फर्क नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि मूलभूत सुविधाओं में सुधार करने के प्रति हम कृत-सकंल्प हैं. इसमें किसी प्रकार से पैसे की कमी नहीं आने दी जाएगी. उन्होंने यह भी कहा कि हमें अपनी कार्यशैली को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना होगा. सेमिनार को संबोधित करते हुए मेंबर ट्रैक्शन, रेलवे बोर्ड घनश्याम सिंह ने कहा कि उन्हें वरिष्ठ लोको निरीक्षकों के कार्य की व्यवहारिक कठिनाईयों का अनुभव है और रेल प्रशासन द्वारा इस दिशा में सार्थक प्रयास किया जा रहा है. इस मौके पर उन्होंने आश्वासन दिया कि शीघ्र ही लोको निरीक्षकों की स्टैपिंग-अप में व्याप्त विसंगतियों को दूर कर दिया जाएगा.

सेमिनार में आयोजक मंडल के अध्यक्ष राजेंद्र भारद्वाज एवं मंडल मंत्री अनूप शर्मा ने कार्यक्रम की शुरुआत में सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए उन्हें प्रतीक चिन्ह प्रदान किया. इस अवसर पर भारतीय रेल के विभिन्न जोनों से आए मुख्य लोको निरीक्षकों ने अपने विचार प्रकट करते हुए अपने कर्तव्य पालन के समय आने वाली व्यवहारिक कठिनाईयों की चर्चा की. सेमिनार को एआईआरएफ के कोषाध्यक्ष कॉम. जे. आर. भोसले, महिला संयोजिका जया अग्रवाल, जोनल सचिव डी. एन. चौबे सहित सहायक महामंत्री एस. के. त्यागी, महाप्रबंधक, उत्तर रेलवे विश्वेश चौबे, डीआरएम, दिल्ली मंडल आर. एन. सिंह, प्रधान मुख्य विद्युत् अभियंता के. सिंह तथा अन्य ने भी संबोधित किया.

साभार : रेलवे समाचार

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

रेलवे यूनियन

IRSTMU – AIRF  के संयुक्त अधिवेशन में WREU के महासचिव ने पुरानी पेंशन योजना लागू करने की वकालत की  नडियाद के सभागार में पांचवी...

न्यूज हंट

KOTA. मोबाइल के उपयोग को संरक्षा के लिए बड़ा खतरा मान रहे रेल प्रशासन लगातार रनिंग कर्मचारियों पर सख्ती बरतने लगा है. रेल प्रशासन...