ताजा खबरें न्यूज हंट मीडिया

एक बार फिर से ‘क्लोन ट्रेनें’ चलाने की तैयारी, वेटिंग लिस्ट वालों को मिलेगी राहत

  • रेलवे उन रूटों पर क्लोन ट्रेनें चलाएगी जिसमें यात्रियों का भार ज्यादा हैं, यानी प्राथमिकता वेटिंग लिस्ट होगी 

नई दिल्ली. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच आर्थिक गतिविधियां पटरी पर लौटने लगी हैं. रेल और मेट्रो ट्रेनों का परिचालन भी धीरे-धीरे सामान्य होने लगे हैं. पटरियों पर यात्री ट्रेनें लौटने लगी हैं. रेलवे यात्रियों को देखते हुए कई जोड़ी विशेष रेलगाड़ियों को चलाने की घोषणा की है. 12 सितंबर से 80 नयी ट्रेनें चलायी जाएंगी, जिसको लेकर आरक्षण 10 सितंबर से शुरू होगा. इस बीच रेलवे के इतिहास में पहली बार क्लोन ट्रेन चलाने की कवायद तेज हो गयी है. रेलवे ने इसकी घोषणा भी कर दी है. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने बताया था कि विशेष ट्रेन के लिए जब भी जरूरत होगी, जहां भी प्रतीक्षा सूची लंबी होगी, हम मूल ट्रेन के बाद उसी तरह की (क्लोन) ट्रेन चलाएंगे ताकि यात्री उसमें यात्रा कर सकें. इसे निजी ट्रेनों के परिचालन से जोड़कर देखा जा रहा है.

रेलवे उन रूटों पर क्लोन ट्रेनें चलाएगी जिसमें यात्रियों का भार ज्यादा हैं. यानी उन रूटों को प्राथमिकता दी जाएगी जिसमें वेटिंग लिस्ट लंबी है. अब सवाल उठता है कि क्लोन ट्रेन क्या होती हैं और ये सामान्य ट्रेनों से कैसे अलग हैं. दरअसल ये क्लोन ट्रेन विशेष ट्रेनों की ही क्लोन होंगी. इन ट्रेनों की गति तेज होगी. इन ट्रेनों का ठहराव सीमित स्टेशनों पर होगा. ऐसा इसलिए ताकी यात्रियों को उनके गंतव्य तक तेजी से पहुंचाया जा सके. क्लोन ट्रेनों में 3 श्रेणी के AC कोच को प्राथमिकता दी जाएगी. मौजूदा विशेष मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों की तुलना में इन क्लोन ट्रेन की स्पीड ज्यादा होगी. हालांकि अभी रेलवे की विस्तृत योजना का खुलासा नहीं हो सका है.

मौजूदा चलायी जा रही विशेष ट्रेनों में अगर वेटिंग लिस्ट बहुत ज्यादा हो जाएंगी तो वैसी हालत में उसके लिए एक और ट्रेन की व्यवस्था की जाएगी. इस ट्रेन का नंबर भी वही होगा और वह मुख्‍य ट्रेन के प्रस्थान के एक घंटे बाद चलेगी. क्लोन ट्रेनें भी उसी रूट पर और उसी प्‍लेटफॉर्म से जाएंगी. इससे उन यात्रियों को फायदा मिलेगा, जिनके पास वेटिंग टिकट होंगे. वैसे यात्री लगभग उसी समय पर बिना किसी परेशानी के अपने गंतव्य तक पहुंच जाएंगे.

पूर्व रेल मंत्री सुरेश प्रभु के समय क्लोन ट्रेन की योजना बनायी गयी थी. हालांकि उनके मंत्री पद से हटते ही योजना को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया. एक बार फिर निजी ट्रेनों के परिचालन की दिशा में आगे बढ़ रही रेलवे ने क्लोन ट्रेन चलाये जाने का संकेत दिया है. इसके तहत प्रतीक्षा सूची वाले यात्रियों को अगले ट्रेन में यात्रा का मौका मिलेगा.

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वी के यादव ने बताया कि 12 सितंबर से 80 नयी ट्रेने चलेंगी. इसके लिए आरक्षण 10 सितंबर से शुरू होगा. ये ट्रेनें पहले से ही चल रही 230 ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी. इसके अलावा पश्चिम रेलवे भी 6 जोड़ी विशेष ट्रेन 12 सितंबर से चलाएगा.

सभार प्रभात खबर

Spread the love

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *