ताजा खबरें न्यूज हंट रेल मंडल रेलवे जोन / बोर्ड

दक्षिण पूर्व रेलवे ने मानसून को लेकर सुरक्षित ट्रेन परिचालन के तैयारी शुरू की

कोलकाता : दक्षिण पूर्व रेलवे ने यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और व्यवधान मुक्त सेवाओं को बनाए रखने की दृष्टि से मानसून की शुरुआत से पहले विभिन्न एहतियाती उपाय अपनाना शुरू कर दिया है. दक्षिण पूर्व रेलवे के सभी चार मंडलों यानी खड़गपुर, आद्रा, चक्रधरपुर और रांची ने मानसून अवधि के दौरान ट्रेन सेवा पर भारी वर्षा के प्रभाव को कम करने के लिए विभिन्न सुरक्षा संबंधी रखरखाव कार्य किए गये हैं. रेलवे इंजीनियर और अन्य संबंधित कर्मचारी रेलवे ट्रैक के पास किसी भी तरह की बाढ़ जैसी स्थिति से निपटने और ट्रेन के सुचारू संचालन को बनाए रखने के लिए आवश्यक उपाय कर रहे हैं. रेलपथ अनुरक्षण कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है और रेलगाड़ियों के सुरक्षित संचालन के लिए मानसून के मौसम में रेलवे ट्रैक की विशेष गश्त की योजना बनाई गई है. रेलवे पुलों पर कड़ी नजर रखी जा रही है और भारी बारिश के कारण बाढ़ को रोकने के लिए प्वाइंट और सिग्नल की लगातार निगरानी की जा रही है.

पटरियों पर जलजमाव को रोकने के लिए गाद, पेड़-पौधों जैसे अवरोधों को रोकने के लिए किनारे की नालियों की सफाई करायी गयी है. रेलवे ट्रैक पर पानी जमा होने पर उपचारात्मक उपायों को अपनाने के लिए संवेदनशील बिंदुओं पर गश्त और निगरानी दल की तैनाती की योजना बनाई गई है. संभावित स्थानों पर जहां जलभराव हो सकता है, भारी बारिश होने की स्थिति में शीघ्र कार्रवाई के लिए पहचान की गई है. अतिरिक्त पानी की निकासी के लिए पंप लगाए गए हैं. मानसून के दौरान विशेष रूप से संवेदनशील स्थानों पर चौबीसों घंटे विशेष गश्त की व्यवस्था की जा रही है.

पुलों और सुरंगों पर हमेशा नजर रखी जाती है. आगामी मानसून के दौरान किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त मात्रा में मानसून आरक्षित सामग्री अर्थात. एसईआर द्वारा पत्थर, रेत, सिंडर, खदान की धूल, गिट्टी आदि को स्टॉक में रखा गया है. उपकरणों के साथ इंजीनियरिंग राहत वैन को रणनीतिक बिंदुओं पर तैयार रखा गया है. दक्षिण पूर्व रेलवे भी मौसम विभाग के साथ लगातार संपर्क में है और यदि कोई प्रतिकूल मौसम की स्थिति की सूचना मिलती है, तो स्थिति से निपटने के लिए पुरुषों और सामग्रियों को जुटाने की तैयारी की गई है.

Spread the love

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *