Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

रेलवे न्यूज

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर 15 दिनों से ड्यूटी दे रहे थे 11 फर्जी टीसी, अधिकारियों को नहीं चला पता

1.51 करोड़ सलाना वसूलने वाला टीटीई अपने ही साथियों के निशाने पर, सीबीआई जांच की उठी मांग

दिल्ली जैसे व्यस्त रेलवे स्टेशन पर 15 दिनों से 11 फर्जी टीटी ड्यूटी करते रहे और स्थानीय अधिकारियों को पता तक नहीं चला. दरअसल, इन लोगों को ट्रेन के आने-जाने का समय एवं उनका नाम-नंबर नोट करने की ड्यूटी दी गई थी. लेकिन सफेद शर्ट और काली पैंट पहनकर बीते 15 दिनों से ये लोग अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर टिकट चेक करने लगे. हद तो तब हो गयी जब उनके एक साथी ने ट्रेन में चढ़कर टिकट जांचना शुरू कर दिया और इस तरह पूरे फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया. आरपीएफ ने फर्जी टिकट चेकिंग करने के आरोप में 11 लोगों को रेल पुलिस के हवाले कर दिया है. रेलवे डीसीपी हरेन्द्र सिंह ने बताया कि इस मामले में अभी तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. वहीं अन्य युवकों की भूमिका को लेकर छानबीन चल रही है.

इससे पहले जून 2021 में कानपुर के सेंट्रल स्टेशन पर 16 फर्जी टीटीई (Kanpur Fake TTE) पकड़े गये थे. टिकट चेक करने की आड़ में ये टीटीई गैंग यात्रियों से वसूली कर रहा था. फर्जी टीटीई गैंग का खुलासा जीआरपी और आरपीएस ने किया था. फर्जी टीटीई का यह गैंग यात्रियों से वसूली का काम खुलेआम कर रहा था.

मंगलवार को रेल रितेश वाधवा ने कानपुर शताब्दी में गाजियाबाद टिकट जांच कर रहे इस युवक को देखा तो पूछताछ की. भूपेन्द्र चौरसिया बताने वाले इस शख्स ने खुद को टिकट चेकर बताया. इसके बाद आरपीएफ को सूचना देकर नई दिल्ली में उसे पकड़ा गया. गोरखपुर निवासी भूपेन्द्र चौरसिया ने बताया कि उसके साथ 10 अन्य लोग भी टीटी बनाये गये है. आरपीएफ ने उन सभी को पकड़ा. सभी टीटी जैसे कपड़े पहने हुए थे. कुछ के पास फर्जी आई कार्ड या फर्जी नियुक्ती पत्र भी मिले. तीन को रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जबकि अन्य से पूछताछ की जा रही है.

प्राथमिक पूछताछ में पुलिस को पता चला कि पकड़े गये युवक यूपी, पंजाब और हरियाणा के रहने वाले हैं. उनसे टीसी की नौकरी दिलवाने के नाम पर दो से तीन लाख रुपये लिये गये हैं. उन्हें बताया गया था कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर उनका प्रशिक्षण होगा. इसलिए वह पिछले कुछ दिनों से यहां आकर ड्यूटी कर रहे थे. पुलिस इस फर्जीवाड़े के मास्टरमाइंड तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.

इससे पहले जून 2021 में कानपुर के सेंट्रल स्टेशन पर 16 फर्जी टीटीई (Kanpur Fake TTE) पकड़े गये थे. टिकट चेक करने की आड़ में ये टीटीई गैंग यात्रियों से वसूली कर रहा था. फर्जी टीटीई गैंग का खुलासा जीआरपी और आरपीएस ने किया था. फर्जी टीटीई का यह गैंग यात्रियों से वसूली का काम खुलेआम कर रहा था.

#Ghaziabad #DELHI

Spread the love

Latest

You May Also Like

न्यूज हंट

आरती ने रात ढाई बजे ‘ पुरुष लोको पायलट से की थी बात’ फिर लगा ली फांसी : परिजनों का आरोप  रतलाम में पदस्थापित...

न्यूज हंट

रेल परिचालन के GR नियमों की अलग-अलग व्याख्या कर रहे रेल अधिकारी, AILRSA ने जतायी आपत्ति GR 3.45 और G&SR के नियमों को दरकिनार कर...

न्यूज हंट

AGRA. उत्तर मध्य रेलवे के आगरा रेलमंडल में दो मुख्य लोको निरीक्षकों ( Transfer of two CLIs of Agra) को तत्काल प्रभाव से तबादला...

न्यूज हंट

डीआरएम ने एलआईसी के ग्रुप टर्म इंश्योरेंस प्लान को दी स्वीकृति, 10 मई 2024 करना होगा आवेदन  रेलकर्मी की मौत के 10 दिनों के...