Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

गुजरात के बाद झारखंड ने मांगा रेलवे का जोनल मुख्यालय

  • रांची में सांसदों ने एक स्वर में कहा, रेलवे बढ़ाए झारखंड में सुविधाएं
  • रांची और आद्रा डिवीजन में अब एक भी मानव रहित फाटक नहीं : प्रभारी जीएम 

रांची से नूतन. गुजरात के बाद झारखंड में सांसदों ने रेलवे का जोनल मुख्यालय की मांग बुलंद की है. 14 सितंबर को दक्षिण पूर्व रेलवे के अंतर्गत राची एवं चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले सासदों की मंडलीय समिति की रांची स्थित होटल बीएनआर में आयोजित बैठक में यह मांग गंभीरता से उठायी गयी. इससे पूर्व गुजरात के राज्यसभा सांसद नारण राठवा ने बीते दिनों पश्चिम रेलवे का मुख्यालय मुंबई की जगह गुजरात के अहमदाबाद या गांधीनगर लाने का प्रस्ताव सांसदों की बैठक में रेलवे को दिया था. उन्होंने दलील थी कि गुजरात को छोड़कर अधिकतर राज्यों की राजधानियों में ही रेलवे का जोनल मुख्यालय है. इसी तर्ज पर झारखंड ने भी दक्षिण पूर्व रेलवे का मुख्यालय रांची लाने की मांग उठी है.

सांसद कड़िया मुंडा ने अध्यक्षता वाली बैठक में रांची और चक्रधरपुर रेल मंडल में हो रहे आधारभूत ढांचे के विकास व यात्री सुविधाओं में हो रही प्रगति को पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से सांसदों को दिखाया गया. इसके बाद सांसदों ने अपने क्षेत्र की रेल सेवाओं और यात्री सुविधा से जुड़ी समस्याओं को दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रभारी महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय के सामने रखा.

बैठक में प्रभारी जीएम अजय विजय वर्गीय ने बताया कि रांची और आद्रा डिवीजन में अब एक भी मानव रहित फाटक हटाने का काम नहीं बचा है. उन्होंने बताया कि सभी समस्याओं को सुना गया और उसे रेलवे बोर्ड को अवगत कराया जाएगा. वहीं उन्होंने कहा कि रांची से चलने वाली राजधानी को लेकर कई शिकायतें आई हैं जिनकी जांच हो रही है और रिपोर्ट आने पर कार्रवाई भी की जाएगी. बहरहाल बैठक में कई मुद्दे तो उठे हैं और उनके समाधान का आश्वासन जीएम ने दिया. इससे पूर्व सांसदों का रंगारंग कार्यक्रम के बीच स्वागत किया गया. बैठक में सांसद राम चंद्र हांसदा, सरोजिनी हेम्ब्रोम, शकुंतला लागुरी, लक्ष्मण गिलुआ, कड़िया मुंडा, सुदर्शन भगत, रामटहल चौधरी, सुनील कुमार सिंह, महेश पोद्दार, समीर उरांव, धीरज प्रसाद साहू, दक्षिण-पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय, रांची रेल मंडल के डीआरएम विजय कुमार गुप्ता, चक्रधरपुर के डीआरएम छत्रसाल सिंह, सीनियर डीसीएम भास्कर समेत आला अधिकारी मौजूद थे.

सांसदों ने रखी मांगें

राज्यसभा सदस्य धीरज प्रसाद साहू ने रांची-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस के रांची से प्रतिदिन परिचालन की मांग की. कहा कि ट्रेन की सफाई, बर्थ की सफाई, खानपान की बेहतर व्यवस्था भी हो. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से जोड़ने वाली राजधानी व अन्य ट्रेनों को वाया लोहरदगा किया जाए ताकि यात्रियों के समय की बचत हो. साहू ने कहा कि लोहरदगा रेलवे स्टेशन का विस्तारीकरण व सौंदर्यीकरण कर इसे मुख्य स्टेशन के तौर पर विकसित किया जाए. रांची-हटिया से पैसेंजर तथा एक्सप्रेस ट्रेनों का विस्तारीकरण लोहरदगा तक करने, मुंबई, हैदराबाद, पुणे के लिए ट्रेनों की संख्या बढ़ाने तभा दक्षिण भारत, राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं गुजरात को रांची रेल मार्ग से जोड़ा जाए. नीलांचल और पुरुषोत्तम आदि ट्रेनें रांची होते हुए चलाने की मांग रखी. .

सांसद राम टहल चौधरी ने कहा कि राजधानी ट्रेनों की बोगियां बदली जाएं. सिल्ली आरागेट और टाटी सिल्वे के बीच ब्रिज के काम में तेजी लाई जाए. टाटा-रांची डेमो ट्रेन वाया बुंडू चलाया जाए. उन्होंने कहा कि रेलवे सुविधाओं का विस्तार करे. खलारी व मुरी स्टेशन पर गरीब रथ ट्रेन का ठहराव हो.

राज्यसभा सदस्य महेश पोद्दार ने कहा कि झारखंड में रेलवे द्वारा विगत वर्ष की तुलना में अनुपातिक तौर पर माल ढुलाई में इजाफा हुआ है जबकि यात्री परिवहन में कमी आई है. उन्होंने राची से हावड़ा के बीच चलने वाली क्रियायोग एक्सप्रेस की बोगियों की हालत में सुधार के लिए आवश्यक कार्रवाई की माग की. उन्होंने राची-दुमका इंटरसिटी एक्सप्रेस में वातानुकूलित डिब्बों की संख्या बढ़ाने और राची से टोरी के लिए नयी ट्रेन शुरू करने का आग्रह भी किया.

चतरा के सांसद सुनील कुमार सिंह ने कहा कि झारखंड में तीन रेलवे जोन और आठ रेल मंडलों का कार्यक्षेत्र पड़ता है. रांची राज्य की राजधानी है, इसलिए यहां पर आयोजित होने वाली बैठक में एक उच्च स्तरीय सक्षम रेलवे के अधिकारी को उपस्थित रहना चाहिए. उन्होंनें रांची-टोरी पैसेंजर (58653/58654) को गढ़वा रोड तक चलाने की बात कही ताकि डालटेनगंज, बरवाडीह, लातेहार और गढ़वा जैसे प्रमुख स्थानों के लोगों को इसका लाभ मिल सके. रांची से टोरी के बीच सुबह और शाम ट्रेन के दो फेरे बढ़ाने, नगरउंटारी से गढ़वा, डाल्टेनगंज, बरवाडीह, लातेहार, टोरी और लोहरदगा होते हुए रांची तक के लिए एक नयी ट्रेन चलाये, गरीब रथ का बरवाडीह में ठहराव देने, नेतरहाट में रेलवे टिकट बुकिंग व आरक्षण केंद्र शुरू करने, लोहरदगा से दिल्ली जानेवाली गाड़ियों को पकड़ने के लिए नेतरहाट से फिडर बस सेवा चालू करने, रांची से बरवाडीह के लिए एक कोच जोड़ने और चंदवा में आरओबी बनाने की मांग सांसद ने की.

खबर पर प्रतिक्रिया का स्वागत है, रेलहंट के नंबर पर सीधे सूचना व न्यूज भेज सकते है. 6202266708 वाट्सएप 

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

न्यूज हंट

राउरकेला से टाटा तक अवैध गतिविधियों पर सीआईबी इंस्पेक्टरों का मौन सिस्टम के लिए घातक   सब इंस्पेक्टर को एडहक इंस्पेक्टर बनाकर एक साल से...

रेलवे जोन / बोर्ड

ECR CFTM संजय कुमार की छह लाख रुपये घूस लेने के क्रम में हुई थी गिरफ्तारी जांच के क्रम में  SrDOM समस्तीपुर व सोनपुर को...