Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

चक्रधरपुर : कामर्शियल में 101 कर्मचारियों का तबादला

रांची. चक्रधरपुर रेलमंडल वाणिज्य विभाग में बड़े पैमाने पर तबादले किये गये हैं. सीनियर डीसीएम भास्कर की अनुशंसा के बाद तबादलों की सूची सीनियर डीपीओ ने शनिवार को जारी की है. सूची में कुल 101 कर्मचारियों को इधर से उधर किया गया है. तबादलों में सीटीआइ, सीबीएस, सीपीएस, टीटीइ, बुकिंग कर्मी, आरक्षणकर्मी शामिल है. सीनियर डीसीएम भास्कर के मंडल वाणिज्य विभाग की कमान संभालने के बाद तबादलों की यह तीसरी सूची है .

वर्तमान सूची में बड़ी संख्या में टिकट निरीक्षकों को इधर से उधर किया गया है. डिप्टी सीटीआइ पद के कर्मचारियों को टाटा से राउरकेला, टाटा से चक्रधरपुर, टाटा से झारसुगुड़ा भेजा गया है जबकि राउरकेला से टाटा, चक्रधरपुर, झारसुगुड़ा में तैनाती की गयी है . तबादला सूची में टाटा से मुख्य बुकिंग सुपरवाइजन आरएस मुंडा को टाटा बुकिंग से सीएफओ भेजा गया है. उनकी पोस्टिंग स्थानीय स्तर पर की गयी है, जबकि सीटीआइ चक्रधरपुर पीके मिश्रा को टाटानगर में नया स्टेशन सीटीआइ बनाकर भेजा गया है.

पीके मिश्रा का तबादला एक दशक पूर्व तत्कालीन सीनियर डीसीएम एमएन ओझा में टाटानगर स्टेशन परिसर में पत्रकार से मारपीट के मामले में चक्रधरपुर कर दिया था. लंबे समय बाद पीके मिश्रा की टाटा वापसी बतौर सीटीआइ स्टेशन हो रही है. वहीं सीटीआइ झारसुगुड़ा को बीपी सक्सेना को सीटीआइ चक्रधरपुर लाइन बनाया गया है. दोनों तबादले प्रशासनिक रुची में किये गये है.

तबादलों में लंबे समय से एक स्थान पर जमे लगभग सभी सीटीआइ को इधर से उधर कर दिया गया है. टाटानगर और राउरकेला आरक्षण केंद्र से भी बड़ी संख्या में लोगों को इधर से उधर किया गया है. इसके अलावा बुकिंग से कुछ लोगों का तबादला किया गया है जबकि बड़ी संख्या टीटीइ की ही है.

कहीं धूप कहीं छांव
तबादला सूची जारी किये जाने के बाद टीटीइ संवर्ग में दबी जुबान से ही सही लेकिन आक्रोश के स्वर सुने गये. टीटीइ के एक बड़े वर्ग का मानना है कि व्यवहारिक अप्रोच रखने वाले सीनियर डीसीएम भास्कर ने भी कुछ चुनिंदा लोगों को तबादलों में विशेष राहत दे दी है. ऐसे लोगों का तबादला तो किया गया है लेकिन उन्हें पूर्व के ही स्टेशनों पर बरकरार रखा गया है. उन्हें बदलाव की प्रक्रिया का हिस्सा बनाते हुए मात्र दिखावे के लिए इधर से उधर कर दिया गया है. ऐसे चुनिंदा लोग या तो पैरवी के मामले में भारी है अथवा वाणिज्य विभाग के कुछ आला पदाधिकारियों के विशेष कृपा पात्र रहें है. यह स्थिति टाटा के अलावा चक्रधरपुर और राउरकेला में भी देखने को मिली है.

जोन से ही आयी है 490 की सूची

बड़ी संख्या में तबादलों के बीच चक्रधरपुर रेल मंडल में इस बात की चर्चा है कि तबादलों की सूची स्थानीय स्तर पर नहीं बनकर दक्षिण पूर्व रेलवे जोन के गार्डेनरीच मुख्यालय से ही भेजी गयी है. इस सूची में लंबे समय से एक स्थान पर जमे उन कर्मचारियों को शामिल किया जो किसी न किसी रूप में एक ही स्टेशन पर जमे रहे है. सूची लगभग 490 के आसपास है. जिसमें अब तक 150 के लगभग तबादलों को अंजाम दिया जा चुका है.

सात दर्जन से अधिक की नयी सूची तैयार 

बताया जा रहा है कि सीनियर डीसीएम भास्कर की अनुशंसा से जल्द ही सीनियर डीपीओ तबादलों की एक और बड़ी सूची जारी करने वाले है जिनमें 70 से 90 नाम शामिल होंगे. इसमें पांच साल से अधिक समय से एक स्थान पर रहने वाले कई लोगों को इधर से उधर किया जायेगा. नयी सूची जारी होने के साथ ही लगभग हर स्टेशन पर नये चेहरे नजर आने लगेंगे.

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

न्यूज हंट

राउरकेला से टाटा तक अवैध गतिविधियों पर सीआईबी इंस्पेक्टरों का मौन सिस्टम के लिए घातक   सब इंस्पेक्टर को एडहक इंस्पेक्टर बनाकर एक साल से...

रेलवे जोन / बोर्ड

ECR CFTM संजय कुमार की छह लाख रुपये घूस लेने के क्रम में हुई थी गिरफ्तारी जांच के क्रम में  SrDOM समस्तीपुर व सोनपुर को...