Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

न्यूज हंट

टाटानगर स्टेशन की पार्किंग में रात अंधेरे में हुआ खूनी खेल, एक की गई जान, मूकदर्शक बने रहे आरपीएफ-जीआरपी

मौत से पहले स्टेशन पार्किंग में बैठा नजर आ रहा विकास कुमार दुबे
  • टाटानगर रेलवे स्टेशन के आउटगेट पर 35 मिनट तड़पता रहा खून से लथपथ युवक, नहीं मिला इलाज, हो गयी मौत
  • टेंपो चालक लगाते रहे गुहार, आरपीएफ और जीआरपी के अधिकारी इधर-से-उधर भटकते रहे, नहीं उठाया कोई कदम

जमशेदपुर. टाटानगर स्टेशन परिसर में बुधवार व गुरुवार की दरम्यानी रात (27.07.2022) देर डेढ़ बजे तब हंगामा मचा गया जब रेलवे आरक्षण केंद्र के पास एक युवक खून से लथपथ आकर जमीन पर गिर पड़ा. युवक पार्किंग के आउट गेट की ओर से भागता हुआ आया था और उसका एक हाथ पूरी तरह कटकर एक ओर झूल रहा था. हर ओर खून बिखरा पड़ा था. युवक के गिरते ही आरपीएफ के सब-इंस्पेक्टर, रेल पुलिस के एएसआइ समेत कुछ जवान भी मौके पर पहुंचे. युवक की स्थिति गंभीर थी. वहां जमा टेंपो चालक लगातार आरपीएफ और रेल पुलिस के अधिकारी से अनुरोध कर रहे थे कि युवक को अस्पताल पहुंचाया जाये लेकिन किसी स्तर पर पहल नहीं की गयी.

टाटानगर रेलवे पार्किंग में बिखरा खून

15 मिनट बाद सभी टेंपो चालक ही एक ऑटो ले आये जिसमें युवक को चढ़ाया गया लेकिन अस्पताल तक जाने को कोई तैयार नहीं था. इस बीच 15 मिनट और गुजर गये. टेंपो चालकों ने रेल पुलिस से कहा कि वह इलाज का खर्च भी देने को तैयार हैं, युवक को तत्काल टीएमएच ले जाया जाये लेकिन कानूनी कार्रवाई से बचाने के लिए चाहते हैं कि कोई पुलिसवाला साथ जाये. इसे लेकर टेंपो चालकों और आरपीएफ के सब-इंस्पेक्टर व रेल पुलिस एएसआइ से झड़प भी हुई. आधे घंटे की मशक्कत के बाद रेल पुलिस घायल को अस्पताल ले जाने को तैयार हुई. युवक को टेंपो पर पहले रेलवे अस्पताल ले जाया गया वहां से उसे एमजीएम भेजा गया. वहां पहुंचने पर डॉक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया. युवक की पहचान बारीडीह बागुनहातु निवासी विकास कुमार दुबे (26) के रूप में की गयी है.

समय पर मिल जाता इलाज तो बच सकती थी युवक की जान

टेंपो में घायल युवक को रखकर पुलिस का इंतजार करते चालक

रेलवे स्टेशन पार्किंग में मारपीट की घटना के बाद टेंपो चालकों को आरपीएफ सब-इंस्पेक्टर ने धमकाना शुरू किया. रेल पुलिस के अधिकारी एक टेंपो चालक को पकड़कर थाना भी ले गये. यह सब इसलिए हुआ कि टेंपो चालक घायल के बेहतर इलाज के लिए प्रशासन पर दबाव बना रहे थे और वर्दी के तैनात आरपीएफ व जीआरपी अधिकारी इसे अपनी तौहीन समझ रहे थे. हुआ वहीं जो होना था, समय पर इलाज नहीं मिलने के कारण युवक की मौत हो गयी.

अब सवाल यह उठ रहा है कि युवक को समय पर अस्पताल क्यों नहीं पहुंचाया जा सका ? आरपीएफ के साथ जीआरपी के अधिकारी भी वहां मौजूद थे फिर ऐसा क्यों हुआ? इसके लिए जिम्मेवार कौन है? क्या इसकी जिम्मेदारी आरपीएफ व जीआरपी के अधिकारी लेंगे? अगर कोई जिम्मेदारी लेने को आगे नहीं आ रहा तो यह बताना होगा कि स्टेशन परिसर में विधि-व्यवस्था बनाये रखने और सुरक्षा की जिम्मेदारी किसकी है? और इसकी चूक पर क्या कार्रवाई हो रही ?

स्टेशन पार्किंग में विकास दुबे की पीट-पीटकर की गयी हत्या, कहां थी रेल पुलिस व आरपीएफ 

मारपीट के आधे घंटे से गायब आरपीएफ सब-इंस्पेक्टर पहुंचे जांच करने

कहा जा रहा है कि टाटानगर रेलवे स्टेशन की पार्किंग में बागुनहातु बारीडीह निवासी विकास कुमार दुबे (26) के साथ मारपीट की गयी. उसकी मौत का कारण पिटाई बनी है. यह भी बताया जा रहा कि पार्किंग में शराब पीने के बाद विवाद हुआ और फिर मारपीट हुई. सीसीटीवी फुटेज में पुलिस को कुछ मिला है लेकिन सवाल यह है कि आधे घंटे तक हंगामा होता रहा तो रेल पुलिस व आरपीएफ के लोग कहां थे? रेलवे पार्किंग में शराब और मारपीट के बीच हत्या के लिए कौन जिम्मेदार होगा? यह भी कहा जा रहा है कि पार्किंग में मारपीट के बाद युवक ने खुद ही अपना हाथ गेट पर लगे कार्यालय की शीशा में मारकर जख्मी कर लिया. पार्किंग के भीतर जो कुछ हुआ वह संदिग्ध है. विकास कुमार दुबे अहमदाबाद जाने के लिए टाटानगर स्टेशन आया था.अब  रेल पुलिस कितनी निष्पक्षता से जांच करेगी यह आने वाला समय बतायेगा फिलहाल यह सवाल बड़ा है कि पार्किंग से बाहर जब विकास दुबे पुलिसकर्मियों के सामने आकर गिरा तो उसे तत्काल अस्पताल क्यों नहीं पहुंचाया गया?

एक टेंपो चालक ने जैसे रेलहंट www.railhunt.com को बताया 

#Murder #Tatanagar #station_parking #SER  #INDIANRAIL

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

न्यूज हंट

राउरकेला से टाटा तक अवैध गतिविधियों पर सीआईबी इंस्पेक्टरों का मौन सिस्टम के लिए घातक   सब इंस्पेक्टर को एडहक इंस्पेक्टर बनाकर एक साल से...

रेलवे जोन / बोर्ड

ECR CFTM संजय कुमार की छह लाख रुपये घूस लेने के क्रम में हुई थी गिरफ्तारी जांच के क्रम में  SrDOM समस्तीपुर व सोनपुर को...