Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

एक जनवरी से चलेगी एलेप्पी एक्सप्रेस, 12 स्टेशनों से उठाया गया स्टॉपेज

जमशेदपुर. लंबे इंतजार के बाद आखिरकार कोल्हान से दक्षिण भारत को जोड़ने वाली अहम ट्रेन एलेप्पी एक्सप्रेस को चलाने को हरी झंडी मिल गयी है. एक जनवारी से एलेप्पी एक्सप्रेस का परिचालन शुरू होगा. हालांकि जीरो बेस टाइम टेबल लागू होने से पहले ही रेलवे बोर्ड ने कई ट्रेनों के राजनीतिक ठहराव को खत्म करने वाले अपने निर्णय पर अल्मीजामा पहनाना शुरू कर दिया है. इसका असर एलेप्पी एक्सप्रेस पर भी नजर आयेगा. एलेप्पी एक्सप्रेस का कुल 12 स्टेशनों पर ठहराव खत्म कर दिया गया है. इससे ट्रेन का समय तीन से साढ़े तीन घंटे कम हो जायेगा.

यह भी पढ़ें : निर्धारित संख्या से कम यात्री मिलने पर बंद हो सकती है ट्रेनें, स्टेशन से ठहराव खत्म होगा ठहराव

एलेप्पी की ओर से ट्रेन चार जनवरी को चलेगी. हालांकि अभी एलेप्पी को स्पेशल ट्रेन बनाकर ही चलाया जायेगा लेकिन इसकी रफ्तार बढ़ाने की तैयारी को अंतिम रूप दे दिया गया है. ट्रेन के समय में संशोधन के कारण ट्रेन का समय घट गया है अब ट्रेन वर्तमान समय से पूर्व ही चेन्नई सेंट्रल पहुंचे जायेगी. रेलवे सूत्रों के अनुसार ट्रेन का पुंदाग, झालदा, बामरा, रेंगली, बदमल, रुपरा रोड, नारेला रोड, आंबोडाला, कोव्वूर, गोदावरी, बितरागुंटा, पेरांबुर स्टेशनों से ठहराव खत्म कर दिया गया है.

रेलवे बोर्ड से मिली मंजूरी के बाद पूर्व मध्य रेल ने धनबाद-अलेप्पी एक्सप्रेस के एक जनवरी और वापसी में चार जनवरी से परिचालन का आदेश जारी कर दिया है. हालांकि इस ट्रेन का आधा हिस्सा टाटा से एलेप्पी के बीच चलता है जो राउरकेला में आकर जुटता हैं. यह माना जा रहा है कि एलेप्पी के शुरू होने से बड़ी संख्या में यात्रियों को राहत मिलेगी.

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

रेलवे यूनियन

IRSTMU – AIRF  के संयुक्त अधिवेशन में WREU के महासचिव ने पुरानी पेंशन योजना लागू करने की वकालत की  नडियाद के सभागार में पांचवी...

न्यूज हंट

KOTA. मोबाइल के उपयोग को संरक्षा के लिए बड़ा खतरा मान रहे रेल प्रशासन लगातार रनिंग कर्मचारियों पर सख्ती बरतने लगा है. रेल प्रशासन...