Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

रेलवे का प्रतिनिधित्व करते हैं स्टेशन मास्टर : रेल राज्य मंत्री 

  • दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में स्टेशन मास्टरों का महासम्मेलन ‘संकल्प ‘ आयोजित  
  • रेल राज्य मंत्री ने स्टेशन मास्टरों की जायज मांगों पर सकारात्मक विचार का दिया आश्वासन 
  • धनंजय सदानंद चंदात्रे सर्वसम्मति से केंद्रीय अध्यक्ष व पी सुनील कुमार चुने गये महासचिव

नई दिल्ली से सुमन केशव. दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन के महासम्मेलन में रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि स्टेशन मास्टर ही वह कैडर है जो भारतीय रेलवे का प्रतिनिधित्व करता है. स्टेशन मास्टर सैनिकों की तरह ही 24 घंटे ड्यूटी पर तैनात रहते हैं और यात्रियों को सुरक्षित उनकी मंजिल तक पहुंचाते हैं. स्टेशन मास्टर देश की सेवा करते हैं सरकार भी उनकी सेवा में तत्पर रहेगी. मास्टरों ने स्टेडियम में सफेद यूनिफार्म में उपस्थित होकर अनुशासित होने का अद्भुत नजारा पेश किया. आइसमा की 48वीं द्विवार्षिक आम सभा एवं संकल्प विराट महासम्मेलन का उदघाटन मंगलवार को रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया. इसमें कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश भर के 16 जोन व 68 मंडलों से लगभग चार हजार से अधिक स्टेशन मास्टर सम्मेलन में शामिल हुए जिसमें कई महिला स्टेशन मास्टर भी शामिल थी.  संकल्प विराट महासम्मेलन का संयोजन दिल्ली मंडल की ओर से किया गया.

स्टेशन मास्टर सैनिकों की तरह ही 24 घंटे ड्यूटी पर तैनात रहते हैं और यात्रियों को सुरक्षित उनकी मंजिल तक पहुंचाते हैं. स्टेशन मास्टर देश की सेवा करते हैं सरकार भी उनकी सेवा में तत्पर रहेगी.

मनोज सिन्हा, रेल राज्य मंत्री

केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने आमसभा में कहा कि स्टेशन मास्टरों की सभी जायज मांगों पर गंभीरता से विचार किया जायेगा. उन्होंने कहा कि ढांचागत विकास में पिछले साढे चार साल में जो निवेश हुआ है वह पहले कभी नहीं हुआ. रेल राज्य मंत्री ने स्वीकार किया कि रेलवे का नेटवर्क बढ़ने के साथ ही चुनौतियां भी बढ रही हैं और उनका डटकर मुकाबला किया जा रहा है. उन्होंने संरक्षा, सुरक्षा और समयबद्धता की दृष्टि से स्टेशन मास्टरों के योगदान की सराहना की. दो दिवसीय सम्मेलन 27 व 28 नवंबर को आयोजित किया गया. इसमें बुधवार को आइसमां की नयी राष्ट्रीय कमेटी का भी गठन किया गया. नयी कमेटी में सर्वसम्मति से धनंजय सदानंद चंदात्रे को केंद्रीय अध्यक्ष व पी सुनील कुमार को महासचिव चुन लिया गया है.

स्टेशन मास्टर ही गांव, कस्बों व शहरों में प्रतिष्ठित चेहरा है : लोहानी 

रेलवे बोर्ड अध्यक्ष अश्विनी लोहानी ने सम्मेलन में कहा कि स्टेशन मास्टर ही वो चेहरा है जो गांव, कस्बों व शहरों में एक प्रतिष्ठित नाम होता है. स्टेशनों पर अच्छी सफाई के लिए लोहानी ने स्टेशन मास्टरों की भूमिका की सराहना की. उन्होंने स्टेशन मास्टरों को बेहतर वातावरण देने की वचनबद्धता जतायी. अश्वनी लोहानी ने स्टेशन मास्टर्स के सभी रिक्त पदों को भरने और उनके लिए कार्य सुविधाओं के बावत विचार करने की बात कही.

सम्मेलन में सांसद बाबुल सुप्रियो ने स्टेशन मास्टरों के साथ अपने जीवन के अनुभव साझा किए व अनुरोध पर गीत भी सुनाकर सबका दिल जीत लिया. सम्मेलन को उत्तराखंड के पूर्व राज्य मंत्री सच्चिदानंद पोखरियाल, पैसेंजर सर्विस कमीशन के अध्यक्ष रमेश चन्द्र रतन, मुख्य परिचालन प्रबंधक राजीव सक्सेना, एआईआरएफ के महासचिव शिव गोपाल मिश्रा, एनएफआईआर के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुमान सिंह, समेत रेलवे के अधिकारियों ने भी संबोधित किया.

संगठन से जुड़े स्टेशन मास्टर देश को देते हैं सर्वोच्च प्राथमिकता : चन्द्राते 

सम्मेलन से पूर्व ऑल  इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय महासचिव चन्द्रशेखर चन्द्राते ने कहा कि संगठन से जुडे सभी स्टेशन मास्टर अपने देश को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हैं और अन्य सभी बातें उसके बाद आती हैं. यही कारण है कि सम्मेलन का घ्येय वाक्य है ”आइ्ए देश को अपना बेहतरीन दें”. उन्होंने बताया कि स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन ने मुम्बई, बंगलोर और कोलकाता में आयोजित तीन महासम्मेलनों में सर्वप्रथम, सुरक्षा और विकास जैसे बिन्दुओं पर ध्यान केन्द्रित किया था. उन्होंने कहा कि आइसमा एक श्रमिक संगठन है जो रचनात्मक आंदोलन में यकीन करता है. स्टेशन मास्टरों ने भूखे रहकर अपनी डयूटी की और रेलवे को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होने दिया. उन्होंने रेलवे के निजीकरण पर चिंता जताई.

ऑल  इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन की प्रमुख मांगें 

  1. स्टेशन मास्टर कैडर में जीरो वेकेन्सी सुनिश्चित की जाए तथा भविष्य में कैडर में रिक्तियां न रहें ऐसी योजना बने
  2. एमएमसीपी के तहत स्टेशन मास्टरों को 5400 का ग्रेड पे (लेवल—9)दिया जाए.
  3. 12 घंटे का डयूटी रोस्टर समाप्त कर स्टेशन मास्टर कैडर की पुन: संरचना कर 15 प्रतिशत पद राजपत्रित किये जाएं.
  4. बडे व सुविधाजनक स्टेशनों पर केन्द्रीयकृत आवास की सुविधा प्रदान की जाए.
  5. रक्षाकर्मियों की भांति रेलकर्मियों को भी एनपीएस के दायरे से बाहर किया जाए.

ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन की नई कार्यकारिणी का गठन  

ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन के महासम्मेलन में नई केंद्रीयकारिणी का भी गठन किया गया. इसमें धनंजय सदानंद चंदात्रे को  सर्वसम्मति से केंद्रीय अध्यक्ष व पी सुनील कुमार को महासचिव चुना गया. नयी कमेटी में इसके अलावा इसके अलावा उत्तर रेलवे की जोनल बॉडी व दिल्ली मंडल की भी नई कार्यकारिणी भी घोषित की गयी है. नरेंद्र कुमार को दिल्ली मंडल का अध्यक्ष बनाया गया है.

Central President: Dhananjay Sadanand Chandratre, TI Pune Division

Central Vice President-

  1. MA Siddique, TI Retd Gonda, LJN Division
  2. Ram Kesh Nahar Singh Meena, BCT Division
  3. Vijay Patil, TI Bhusawal BSL Division
  4. AN Tiwari, JHS Division
  5. AK Singh, CKP Division
  6. MI Qureishi: SS NAG Division SECR

Secretary General : P Sunil Kumar SS PGT Division

Central Secretary Finance: Shamananda Sagar: SMR Birur, MYS Division

ACSF: GS Prasanna: SS Kengeri SBC Division

Joint Secretary General-

  1.  DT Ghanchi, ADI Division
  2. Tirath Singh, SS KOTA Division

Central Organizing Secretary-

  1. SC Samaria, Ajmer Division
  2. RA Prasad, Howrah Division

Dy Secretary General

  1. R Duraisamy, SS Nizamuddin, Delhi Division
  2. Kamini Singh, SS KOTA Division
  3. Girish Kumar, SS Chopan, DHN Division
  4. Santhosh Kumar Behera, SS Rayagada, Waltair Division
  5. A Arunasree, SS Vishakapatanam, Waltair Division
  6. Om Prakash, SS Raichur, Guntakal Division

Central Internal Auditor: Manoj G Nair, TI Salem Division

Central Office Secretary: T Vinu, TVC Division

Liason Secretary: Manoj Kumar Gupta: SS Krishanganj, Delhi Division

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

रेलवे यूनियन

IRSTMU – AIRF  के संयुक्त अधिवेशन में WREU के महासचिव ने पुरानी पेंशन योजना लागू करने की वकालत की  नडियाद के सभागार में पांचवी...

न्यूज हंट

KOTA. मोबाइल के उपयोग को संरक्षा के लिए बड़ा खतरा मान रहे रेल प्रशासन लगातार रनिंग कर्मचारियों पर सख्ती बरतने लगा है. रेल प्रशासन...