Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

SER : प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त डीबी कसार राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित

  • आरपीएफ में दो लोगों को मिला सम्मान, इनमें सीनियर कमांडेंट सारिका मोहन भी शामिल

रेलहंट ब्यूरो नई दिल्ली

दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त देवेंद्रनाथ बी कसार को राष्ट्रपति पुलिस पदक (पीपीएम) से सम्मानित किया गया है. इससे पहले कसार पुलिस पदक समेत कई सम्मान से विभूषित किये जा चुके हैं. स्वतंत्रता दिवस समारोह में आरपीएफ से दो अधिकारियों को यह सम्मान दिया गया. इसमें सीनियर कमांडेंट सारिका मोहन भी शामिल है. वह पहली महिला अधिकारी है जिन्हें इस सम्मान से सम्मानित किया गया है.

डीबी कसार, प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त, SER

डीबी कसार की पहचान सुरक्षा बल में दक्षिण पश्चिम रेलवे में बच्चों के बचाव के लिए चलाये गये ऑपरेशन नन्हे, अभियान ईगल, दक्षिण पूर्व रेलवे में गरीब यात्रियों के लिए चलाये गये अभियान रिवर फ्लो, अपराध रोकने में ड्रोन का उपयोग करने जैसे प्रयोगों को लेकर खास रही है. मुंबई में 26/11 के हमले के दौरान डीबी कसार स्वयं मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर मौजूद थे, जिन्होंने न सिर्फ यात्रियोंं और जवानों की जान बचाने बल्कि ट्रेनों का सुरक्षित परिचालन बहाल कराने में अहम भूमिका निभाई थी. इस कार्य में उनकी अगुवाई में छह माह पूर्व ऑपरेशन ईगल में तैयार कमांडों बल की भूमिका क्षति को कमतर करने में उल्लेखनीय रही थी.

सके अलावा अपराध रोकने के लिए रणनीतिक योजना बनाने, रेलवे सम्पति और यात्रियों की सुरक्षा के लिए की गयी सुधारात्मक पहल में उनका अहम योगदान रहा है.

1990 यूपीएससी से सुरक्षा कमांडेंट बने डीबी कसार को सुरक्षा बल की 28 वर्षों की सेवा में कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया. कसार वर्तमान में दक्षिण पूर्व रेलवे में आरपीएफ के प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त (पीसीएससी) है. उन्हें उनकी विशिष्ठ सेवाओं के लिए स्वतंत्रता दिवस 2020 समारोह में राष्ट्रपति पुलिस पदक (पीपीएम) से सम्मानित किया गया है. इस उपलब्धि पर दक्षिण पूर्व रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारी व जवानों ने प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त को बधाई दी है.

डीबी कसार 1998 में जीएम अवार्ड, 2001 और 2017 में डीजी इंसिग्निया अवार्ड, 2019 में डीजी कमेंडेशन, 2019 में फिक्की पुरस्कार के अलावा 2013 में स्मार्ट-पुलिसिंग के लिए भारतीय पुलिस पदक से सम्मानित किये जा चुके है. उन्हें रेलवे के माध्यम से महिलाओं और बच्चों की तस्करी, आतंकवादी व गतिविधियों से बचाव में रणनीतिक तैयारी का विशेषज्ञ माना जाता रहा है.

2013 में झारखंड और पश्चिम बंगाल के बीच नक्सली गतिविधियों की जानकारी लेने के लिए चलाये गये ऑपरेशन रिवर फ्लो में कम्युनिटी पुलिसिंग के माध्यम से स्थानीय लोगों से जानकारी जुटाई गयी थी. इस कार्य के लिए कसार को भारतीय पुलिस पदक (2013) से सम्मानित किया गया. 2017 में उन्होंने चाइल्ड ट्रैफ़िकिंग के लिए ऑपरेशन नन्हे चलाया. इस ऑपरेशन को तीन राज्यों कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में चलाया गया था.

इसमें तस्करी, अपहरण, लापता और घर से भागे 2300 बच्चों को ट्रैक किया गया था. इस ऑपरेशन के लिए फेडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स एंड कॉमर्स (FICCI) द्वारा SMART पुलिसिंग अवार्ड से सम्मानित किया गया और वर्ष 2017 में दूसरी बार उनकी सेवा के दौरान उन्हें DG के प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया.

इस विशिष्ट उपलब्धि के लिए पीसीएससी डीबी कसार को रेलहंट की ओर से बहुत शुभकामनाएं.

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

रेलवे यूनियन

IRSTMU – AIRF  के संयुक्त अधिवेशन में WREU के महासचिव ने पुरानी पेंशन योजना लागू करने की वकालत की  नडियाद के सभागार में पांचवी...

न्यूज हंट

KOTA. मोबाइल के उपयोग को संरक्षा के लिए बड़ा खतरा मान रहे रेल प्रशासन लगातार रनिंग कर्मचारियों पर सख्ती बरतने लगा है. रेल प्रशासन...