Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

रेलवे जोन / बोर्ड

रेलमंत्री ने कहा – सोशल मीडिया की जबावदेही तय करने की जरूरत, कानून में होगा बदलाव

नई दिल्ली.  केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने विरोध प्रदर्शन के बीच युवाओं से हिंसा रोकने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि ”मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि रेलवे आपकी और राष्ट्रीय संपत्ति है. हिंसक विरोध न करें, रेलवे आपकी संपत्ति है. कुछ असामाजिक तत्व भी इन विरोध प्रदर्शनों में शामिल हुए हैं, हिंसा से कुछ हासिल नहीं होगा.”  इस अनुरोध के कुछ देर बाद ही रेलमंत्री ने कहा कि सोशल मीडिया की जिम्मेदारी तय होना जरूरी है, इसके लिए कानून में बदलाव किया जायेगा. रेलमंत्री ने यह संकेत मीडिया से बात करते हुआ दिया है.

अग्निपथ योजना को लेकर प्रदर्शनकारियों ने सिकंदराबाद स्टेशन में की तोड़फोड़, बिहार, यूपी व झारखंड भी प्रभावित

इससे पहले रेलमंत्री ने कहा था कि हम प्रदर्शनकारियों को बताना चाहते हैं कि आप जिस रेलवे संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, वह आपके, हमारे और करदाताओं के पैसे से बनाई गई है. इन संपत्तियों का उपयोग आपके और आपके अपने रिश्तेदारों द्वारा भी किया जाता है. महत्वपूर्ण रूप से, प्रभावित होने वाली इन ट्रेनों में, जरूरतमंद लोग यात्रा करते हैं, जिन्हें चिकित्सा की आवश्यकता है, और कुछ ऐसे छात्र थे जिन्हें परीक्षा देनी थी. इसलिए रेल मंत्रालय इन प्रदर्शनकारियों से अपील करता है कि वे इस आंदोलन को रोकें, और उचित माध्यमों से अधिकारियों के सामने अपनी शिकायतें पेश करें.”

यह भी पढ़ें : असामाजिक तत्व भी विरोध-प्रदर्शनों में हो गये हैं शामिल, सरकारी संपत्ति को निशान न बनाये : रेलमंत्री

मालूम हो कि अग्निपथ योजना का विरोध करने वाले प्रदर्शनकारियों के निशाने पर लगातार रेलवे प्रतिष्ठान रहे हैं. पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश से लेकर हैदराबाद के सिकंदराबाद रेलवे तक लक्षित हिंसा से सबसे बुरी तरह प्रभावित रहा है. बिहार से उठी आगे धीरे-धीरे सभी ओर पहुंच चुकी है. स्टेशन व रेलवे संपत्ति को लगातार निशाना बनाया जा रहा है. कई जगह ट्रेन की बोगियों को फूंक दिया गया है. रेल प्रशासन और  सरकार भी बेबश नजर आ रही है.

भारतीय रेलवे के प्रवक्ता अमिताभ शर्मा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रदर्शनकारियों से वह अपील करते हैं कि वे राष्ट्रीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाना बंद करें और उपयुक्त चैनलों के माध्यम से शिकायतें पेश करें. शर्मा ने कहा “हमारे सभी नियंत्रण कक्ष चल रहे हैं, और यात्रियों के लिए हेल्पलाइन शुरू की गई है. जो ट्रेनें फंसी हुई हैं, उनमें खानपान विभाग यात्रियों के लिए भोजन और पानी की व्यवस्था कर रहा है. कम से कम 116 ट्रेनों को रोक दिया गया है, और 35 ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. हम शाम को स्थिति बेहतर होने की उम्मीद है.

#Agnipath #Agniveers #AgnipathScheme #AgnipathRecruitmentScheme

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे सिग्नल एंड टेलीकॉम मैन्टेनर्स यूनियन ने तेज किया अभियान, रेलवे बोर्ड में पदाधिकारियों से की चर्चा  नई दिल्ली. सिग्नल और दूरसंचार विभाग के...

रेलवे यूनियन

नडियाद में IRSTMU और AIRF के संयुक्त अधिवेशन में सिग्नल एवं दूर संचार कर्मचारियों के हितों पर हुआ मंथन IRSTMU ने कर्मचारियों की कठिन...

न्यूज हंट

राउरकेला से टाटा तक अवैध गतिविधियों पर सीआईबी इंस्पेक्टरों का मौन सिस्टम के लिए घातक   सब इंस्पेक्टर को एडहक इंस्पेक्टर बनाकर एक साल से...

रेलवे जोन / बोर्ड

ECR CFTM संजय कुमार की छह लाख रुपये घूस लेने के क्रम में हुई थी गिरफ्तारी जांच के क्रम में  SrDOM समस्तीपुर व सोनपुर को...