Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

ताजा खबरें

बिल नहीं दिया तो खाना देना होगा फ्री

बिल नहीं दिया तो खाना देना होगा फ्री

नई दिल्ली/कोलकाता. रेलवे में यदि कैटरर यात्रियों को खाने का बिल नहीं देते है तो उसे मुफ्त में खाना देना पड़ेगा. रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कैटरिंग फर्मो को यह स्पष्ट चेतावनी दे दी थी. ठाणे में चल रहे अनशन स्थल से ही कैटरिंग ठेकेदारों को वीडियो कांफ्रेंसिंग में संबोधित करते हुए 13 अप्रैल को गोयल ने कहा कि खाने की गुणवत्ता और कीमतों को लेकर कोई समझौता नहीं किया जाएगा. साथ ही इन दोनों मामलों से अलग-अलग ढंग से निपटा जाएगा. उन्होंने स्पष्ट किया कि भले ही व्यंजन संख्या में कम हों, मगर उनकी गुणवत्ता उच्च स्तर की होनी चाहिए. इसी प्रकार प्रत्येक ठेकेदार के लिए खाने का मेन्यू तथा बिल देना अनिवार्य है. बिल न देने पर खाने का मूल्य वसूलने का कोई अधिकार नहीं होगा. उन्होंने बिल भुगतान रसीद बनाने के लिए कैटरिंग सर्विस कर्मियों को पीओएस मशीने देने के साथ-साथ बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने पर जोर दिया.बिल नहीं दिया तो खाना देना होगा फ्री

गोयल ने रेलवे बोर्ड अफसरों को भी कुछ निर्देश दिए. मसलन, उन्होंने कैटरिंग दरों का मास्टर प्लान बनाने के अलावा बीच में कैटरिंग अनुबंध तोड़ने के इच्छुक कैटरर्स के लिए एक्जिट पॉलिसी तैयार करने को कहा है. यही नहीं, उन्होंने ऐसे कैटरिंग कर्मियों को ब्लैक लिस्ट करने के निर्देश भी दिए हैं जो यात्रियों से टिप वसूलते हैं. उन्होंने टिप सिस्टम को रेलवे से पूरी तरह समाप्त करने पर जोर दिया.

 

यात्रियों की ओर से की जाने वाली सभी शिकायतों को सार्वजनिक किया जाना चाहिए और भ्रष्ट गतिविधियों में लिप्त ठेकेदारों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई कर उन्हें उसकी जानकारी दी जानी चाहिए.

पीयूष गोयल, रेलमंत्री

रेलमंत्री ने पैंट्री कारों में कॉक्रोच तथा चूहों के सफाये के बारे में नियमावली तथा मानक प्रक्रिया तैयार करने के निर्देश भी दिए हैं. उन्होंने स्पष्ट किया कि रेलवे में कैटरिंग फर्मो के कार्टेल को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. गोयल ने पैंट्री कारों की बार-बार की विफलता को देखते हुए इनकी निगरानी के लिए एक मोबाइल ऐप तैयार करने को कहा है.

बिल नहीं दिया तो खाना देना होगा फ्रीआइआरसीसीटी ग्रुप जनरल मैनेजर ने जारी किया आदेश

कोलकाता. रेलमंत्री के दिशानिर्देश और बोर्ड के गाइड लाइन के बाद आइआरसीटीसी ने खाने के सामान की गुणवत्ता निर्धारित करने और यात्री को बिल देने का निर्देश जारी किया है. आइआरसीटीसी के इस्ट जोन ग्रुप जनरल मैनेजर देवाशीष चंद्रा ने सभी रेलमंडल को जारी निर्देश में यात्रियों को खान-पान की सेवा के लिए बिल देना सुनिश्चित कराने को कहा है. इस आदेश की प्रति 19 अप्रैल को सभी रेलवे मंडल, रेलवे क्षेत्रीय प्रबंधकों को जारी कर दी गयी है.

Spread the love

You May Also Like

ताजा खबरें

सबसे अधिक पद नॉदर्न रेलवे में 2350 किये जायेंगे सरेंडर, उसके बाद सेंट्रल रेलवे में 1200 ग्रुप ‘सी’ और ‘डी’ श्रेणी के पद सरेंडर...

गपशप

डीआईजी अखिलेश चंद्रा ने सीनियरिटी तोड़कर प्रमोशन देने का लगाया आरोप नई दिल्ली. रेलवे सुरक्षा बल में अपने सख्त व विवादास्पद निर्णय के लिए...

ताजा खबरें

मोदी सरकार के शपथ ग्रहण के दिन ही जारी लखनऊ डीआरएम ने दिया टारगेट विभागों के आउटसोर्स करने से खाली पदों पर सरेंडर करने...

विचार

राकेश शर्मा निशीथ. देश के निरंतर विकास में सुचारु व समन्वित परिवहन प्रणाली की महत्वपूर्ण भूमिका होती है. वर्तमान प्रणाली में यातायात के अनेक साधन,...