Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

देश-दुनिया

रेलकर्मिया के सामाजिक सुरक्षा का हनन कर रही सरकार : शशि मिश्रा

  • एनपीएस के विरोध में रेलवे मेंस कांग्रेस ने चक्रधरपुर मंडल मुख्यालय पर किया प्रदर्शन
  • मंडल रेल प्रबंधक को चेयरमैन के नाम भेजे पत्र में पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने की उठायी मांग

चाईबासा से प्रदीप. दक्षिण पूर्व रेलवे मेंस कांग्रेस ने चक्रधरपुर मंडल मुख्यालय पर वृहद प्रदर्शन कर मंगलवार को रेलवे में पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल करने की मांग उठायी. चक्रधरपुर मंडल मुख्यालय पर आयोजित प्रदर्शन में बड़ी संख्या में विभिन्न स्टेशनों से आये रेलकर्मी मौजूद थे. इस मौके पर मेंस कांग्रेस के मंडल संयोजक शशि रंजन मिश्रा ने सरकार का ध्यान डिफेंस को एनपीएस से मुक्त करने की ओर दिलाते हुए कहा कि रेलकर्मी भी सुरक्षा के मोर्चे पर तैनात हैं. हर रेलकर्मी जान जोखिम में डालकर यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने का काम कर रहा है.

नेशनल फेडरेशन से मिले आंकड़ों का हवाला देते हुए मंडल संयोजक शशि मिश्रा ने कहा कि रेलवे में हर साल 700 रेलकर्मी ऑन ड्यूटी रेलवे ट्रैक पर किसी ने किसी कारण से मौत के शिकार हो रहे हैं. साल में यह आंकड़ा 3000 से अधिक घायल होने वालों का है. उन्होंने कहा कि आंकड़े में देखा जाए तो सीमा पर शहीद होने वाले जवानों से चार गुणा अधिक रेल कर्मियों की संख्या रेलवे ट्रैक पर मरने वालों में है, बावजूद सरकार ने रेल कर्मियों को नई पेंशन स्कीम में डाल रखा है.

सरकार मनमाने तरीके से रेल कर्मियों के खून-पसीने की कमाई का पैसे धड़ल्ले से शेयर बाजार में लगा रही है जिसका कोई फायदा रेलकर्मियों को नहीं मिल पा रहा. शशि मिश्रा ने कहा कि रेलवे में 2004 से नई पेंशन स्कीम लागू है जो वर्तमान परिस्थिति में किसी भी रूप में कर्मचारियों के हित में नहीं है.

700 रेलकर्मी ऑन ड्यूटी रेलवे ट्रैक पर किसी ने किसी कारण से मौत के शिकार हो रहे हैं. साल में यह संख्या 3000 से अधिक घायल होने वालों का है. आंकड़े में देखा जाए तो सीमा पर शहीद होने वाले जवानों से चार गुणा अधिक रेल कर्मियों की संख्या रेलवे ट्रैक पर मरने वालों में है.

शशि मिश्रा, मंडल संयोजक, रेलवे मेंस कांग्रेस 

रेल कर्मियों का एकमात्र सहारा पेंशन होता है जिसे सरकार ने दांव पर लगा दिया है. आज भी यह स्पष्ट नहीं है कि सेवानिवृत्त होने वाले रेलकर्मी को कितना पेंशन मिलेगा. इस तरह पुरानी पेंशन स्कीम को बंद कर सरकार ने रेल कर्मियों के सामाजिक सुरक्षा का हनन किया है. मंडल मुख्यालय से आवाज बुलंद करते हुए रेलवे मंडल संयोजक ने कहा कि मेंस कांग्रेस किसी भी रूप में न्यू पेंशन स्कीम को स्वीकार नहीं करती है और इसके लिए खड़ा किया गया मंडल स्तर का यह आंदोलन रेलवे बोर्ड तक जाएगा और एनपीएस स्कीम को हर स्तर पर उखाड़ फेंकेगा.

इससे पूर्व दक्षिण पूर्व रेलवे मेंस कांग्रेस के कार्यकर्ता विभिन्न स्टेशनों से सुबह चक्रधरपुर मंडल मुख्यालय पर पहुंचे और अपनी एकता का परिचय देते हुए सभा कर आवाज बुलंद की. सुबह 10:30 बजे से दोपहर 1:30 बजे मेंस कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धरना दिया जिसमें वक्ताओं ने अपनी-अपनी बात कही. इस मौके पर जोनल उपाध्यक्ष आरएम राव सीजी माइकल आरके मिश्रा वासवदत्ता सुभाष मजूमदार डी एस राव घनश्याम चौधरी अवतार सिंह धोनी फर्नांडो बीएन उपाध्याय नंदा राव महिला शाखा की अध्यक्ष बबीता डे रीना बाबा साहू समेत सैकड़ों की संख्या में रेलकर्मी धरना में मौजूद थे. धरना के बाद मेंस कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल में डीआरएम छत्रसाल से मिलकर उन्हें रेलवे चेयरमैन अश्वनी लोहानी के नाम अपना मांग पत्र सौंपा. इसमें एनपीएस स्कीम को तत्काल खत्म कर पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल करने की मांग रखी गई है.

 

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे न्यूज

AHMEDABAD : अहमदाबाद मंडल रेल प्रबंधक तरुण जैन साहब ने अधिकारियों की पूरी टीम के साथ शनिवार  05.11.2022 की सुबह वटवा लॉबी – यार्ड...

रेलवे यूनियन

इंडियन रेलवे एस एंड टी मैंटेनर्स यूनियन (IRSTMU) ने बतायी बड़ी उपलब्धि नई दिल्ली. टेलीकॉम विभाग में 13.10.2022 से यार्ड स्टिक सिस्टम लागू हो...

न्यूज हंट

इंडियन रेलवे एस एडं टी मैंटेनरर्स यूनियन (IRSTMU) के राष्ट्रीय संरक्षा अधिवेशन में संरक्षा बिंदुओं पर हुआ मंथन सिग्नल एवं दूरसंचार कर्मचारियों की कठिन...

रेलवे यूनियन

SABNARMATI : वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉयज यूनियन की साबरमती शाखा 07 अक्टूबर 2022 को रेल कर्मचारियों की 31 सूत्री मांगों को लेकर की साबरमती रेलवे...