Connect with us

Hi, what are you looking for?

Rail Hunt

रूल फॉर पैसेंजर

बांबे हाई कोर्ट ने कहा- ट्रेन से गिरकर घायल होने वाले को मिलना चाहिए मुआवजा

मुंबई.  बांबे हाई कोर्ट ने दैनिक यात्रियों के हित में अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि यदि कोई व्यक्ति खचाखच भरी ट्रेन में चढ़ने की कोशिश के दौरान गिरकर घायल हो जाता है तो यह प्रतिकूल घटना के दायरे में आएगा. ऐसे मामलों में रेलवे को मुआवजा देना चाहिए. पश्चिम रेलवे ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मामला रेलवे अधिनियम की धारा 124 (ए) के प्राविधानों के तहत नहीं आता, जिसमें कहा गया है कि अप्रिय घटनाओं के मामलों में मुआवजा देना होगा। रेलवे ने कहा कि याचिकाकर्ता नितिन हुंडीवाला ने चलती ट्रेन में चढ़ने की कोशिश की.

न्यायमूर्ति डांगरे ने रेलवे के इस तर्क को मानने से इन्कार कर दिया. उन्होंने कहा कि यह मामला अधिनियम की धारा 124 (ए) के तहत ‘अप्रिय घटना’ के दायरे में आता है. याचिकाकर्ता ने दावा किया कि दुर्घटना से वह आज तक परेशान हैं. पश्चिम रेलवे से मुआवजे में 4 लाख रुपये की मांग करने वाली हुंडीवाला की प्रारंभिक मांग को रेलवे दावा न्यायाधिकरण (आरसीटी) ने जुलाई 2013 में इस आधार पर ठुकरा दिया था कि उन्‍होंने एक चलती हुई लोकल ट्रेन में चढ़ने के लिए एक “नासमझ और आपराधिक कृत्य” का सहारा लिया था.

मुंबई लोकल ट्रेन के संदर्भ न्यायमूर्ति भारती डांगरे की एकल पीठ ने पश्चिमी रेलवे को 75 वर्षीय एक बुजुर्ग को तीन लाख रुपये हर्जाने के तौर पर देने के निर्देश दिए. वे खचाखच भरी एक लोकल ट्रेन से गिर गए थे और उनके पैरों में चोट आई थी.

 

Spread the love

Latest

You May Also Like

रेलवे यूनियन

तारकेश कुमार ओझा, खड़गपुर रेलवे में स्टेशन मास्टरों की ओर से प्रस्तावित 31 मई का सामूहिक अवकाश फिलहाल स्थगित हो गया है . इससे...

रेलवे यूनियन

पटना. दानापुर रेलमंडल के नवनियुक्त सीनियर डीएसटीई Sr. DSTE Danapur मनीष कुमार से मिलकर IRSTMU नेताओं ने S&T कर्मचारियों के मुद्दों पर लंबी चर्चा...

रेलवे जोन / बोर्ड

सेंट्रल रेलवे के मुंबई डिवीजन अंतर्गत कालू नदी के ब्रिज पर खड़ी 11059 गोदान एक्सप्रेस के पीछे से दूसरे डिब्बे में हुई चेन पुलिंग...

रेलवे यूनियन

नये स्टेशन पर कर्मचारियों के लिए सभी सुविधाओं से युक्त ड्यूटी रुम बनाने की मांग  पटना. इंडियन रेलवे एस एंड टी मैंटेनर्स यूनियन (IRSTMU)...